नाबालिग पत्नी से शारीरिक सम्बन्ध बनाना दुष्कर्म तो नहीं, पर होगा आज फैसला

0
13

नई दिल्ली : नाबालिग पत्नी के साथ सम्बन्ध बनाने पर यह दुस्कर्मे के अंतर्गत आता है या नहीं इस पर सुप्रीम कोर्ट आज अपना फैसला सुनाएगा, सुप्रीम कोर्ट ने नाबालिग बीवी से शारीरिक संबंध बनाने को दुष्कर्म नहीं मानने वाले कानून को निरस्त करने संबंधी याचिका पर बुधवार को फैसला सुरक्षित रख लिया है.

हालांकि गैर-सरकारी संगठन इंडिपेंडेंट थॉट की याचिका पर न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने केंद्र सरकार की विस्तृत दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखा है, केंद्र सरकार ने अपनी दलील में कहा था की उसे पता है कि 15-18 वर्ष के बीच की महिला के साथ यौन संबंध बनाना रेप है, लेकिन विवाह की संस्था को बचाने के लिए इसे रेप नहीं माना गया है. सरकार ने कहा, सामाजिक हकीकत यही है कि रोकथाम के कानून के बावजूद 15-18 वर्ष के बीच की लड़कियों का विवाह होता है. जबकि अपवाद कहता है 15-18 वर्ष के बीच की लड़की साथ संबंध उस अवस्था में रेप नहीं होंगे, यदि वह शादीशुदा है.

जबकि गैर-सरकारी संगठन इंडिपेंडेंट थॉट याचिककार्ताओं का कहना है कि रेप कानून का अपवाद अवयस्क महिला के साथ दुष्कर्म की इजाजत देता है. इसके कारण लाखों महिलाएं कानूनी दुष्कर्म झेल रही है, यह अमानवीय है, जबकि कई देशो में इसके अपवाद को कानून या न्यायिक आदेशों से समाप्त किया जा चुका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here