Breaking News

नवरात्रि पांचवा दिन करे स्कंदमाता की आराधना

Posted on: 25 Sep 2017 04:56 by Ghamasan India
नवरात्रि पांचवा दिन करे स्कंदमाता की आराधना

नई-दिल्ली। आज नवरात्रि का पांचवां दिन है । इस दिन दुर्गा के नौ रुपों में से एक रूप स्कंदमाता की पूजा की जाती है। स्कंदमाता की चार भुजाएं हैं। माता अपने दो हाथों में कमल पुष्प धारण किए हुए है और एक हाथ से कुमार कार्तिकेय को गोद में लिए हुए हैं।

संतान सुख की इच्छा से जो व्यक्ति मां स्कंदमाता की आराधना करता हैं उन्हें नवरात्र की पांचवी तिथि को लाल वस्त्र में सुहाग चिन्ह सिंदूर, लाल चूड़ी, महावर, लाल बिन्दी तथा सेब और लाल फूल एवं चावल बांधकर मां की गोद भरनी चाहिए।

शास्त्रों में स्कंद को कुमार कार्तिकेय भी कहा गया है। मां को खुश करने के लिए पंचवी तिथि को पांच वर्ष की पांच कन्याओं को और  बालकों को खीर एवं मिठाई खिलाएं जाती है। भोजन के पश्चात कन्याओं को लाल चुनरी एवं भेंट में रुपये दें तथा बालकों को भेंट स्वरूप कुछ प्रदान करे

माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए नवरात्रि में पाँचवें दिन इस मंत्र जाप करना चाहिए।

सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रित करद्वया।
शुभदास्तु सदा देवी स्कंद माता यशस्विनी॥

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com