दोस्त की मौत पर कई दिनों तक रोई थी आरुषि

0
10

नई दिल्ली। आज आरुषि के माता-पिता डॉ. राजेश तलवार और नूपुर तलवार के लिए आज बहुत बड़ा दिन है। आज आरुषि-हेमराज मर्डर केस पर इलाहबाद हाईकोर्ट अपना फैसला सुनाने वाला है। आरुषि की नानी लता जी को आशा है कि उनकी बेटी और दामाद बेगुनाह साबित होकर घर लौट आएंगे।

नूपुर के पिता एयरफोर्स में काम करते थे. उन लोगों ने तीन बड़े वॉर देखे, कभी हौसला नहीं हारा. लेकिन आरुषि की मौत और तलवार दंपति के जेल जाने के बाद पूरा परिवार टूट गया है ।आरुषि की नानी के मुताबिक़ आरुषि की देखभाल का जिम्मा उनके ही सिर पर था। क्योकि नूपुर और राजेश दोनों क्लिनिक जाते थे।

लता जी ने बताया कि आरुषि की एक दोस्त थी गजल. दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त थे। एक दुर्घटना में गजल की मौत हो गई. इसके बाद आरुषि को बहुत दुख हुआ। वह कई दिनों तक उसके लिए रोती रही. स्कूल भी नहीं गई। उसे गजल के बिना स्कूल जाना अच्छा नहीं लग रहा था। फिर फैमली स्कूल में गजल के नाम का एक पेड़ लगवा दिया, ताकि उसका एहसास उसे रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here