देवउठनी ग्यारस पर इस बार नहीं गुज़ेगी शहनाई

0
7

नई दिल्ली। हमारे हिन्दू धर्म में मान्यता है कि देवउठनी एकादशी पर भगवान विष्णु चार महीने के बाद देवउठनी एकादशी पर नींद से जागते हैं। तभी से विवाह और शहनाईयां गूंजने लगती हैं और घर में मंगल कार्यों का आरंभ हो जाता है।

नवंबर-दिसंबर में विवाह के लिए केवल 13 लग्न मुहूर्त रहेंगे, 15 दिसंबर से लेकर 3 फरवरी 2018 तक लगभग डेढ़ माह विवाह के मुहूर्त नहीं होंगे। 15 दिसंबर से मल मास का आरंभ हो रहा है, जिसका विश्राम 14 जनवरी 2018 को होगा। फिर शुक्र तारा अस्त हो जाएगा, शादी-ब्याह नहीं हो पाएंगे।

2017 में विवाह के शुभ मुहूर्त
नवंबर- 19, 20, 21, 22, 23, 28, 29, 30
दिसंबर- 3, 4, 8, 9, 10

जुलाई 2018 में शादियों के शुभ मुहूर्त
फरवरी- 4, 5, 7, 8, 9, 11, 18, 19
मार्च- 3, 4, 12,
अप्रैल- 19, 20, 25, 27
मई- 2, 4, 6, 11, 12, 13
जून- 18, 21, 23, 29, 30
जुलाई- 5, 6, 7, 11, 15, 16, 18, 19, 20, 21, 22

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here