देवउठनी एकादशी आज, जानें पूजन विधि और मुहूर्त

0
9

नई दिल्ली। आज है देवउठनी एकादशी आज के दिन भगवान विष्णु चार महीने के शयन के बाद जगते हैं। इसलिये देवउठनी एकादशी मनाई जाती है और इस दिन देवउठनी एकादशी को तुलसी विवाह किया जाता है। और  इस दिन से विवाह और अन्य किसी शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाती है। देवउठनी एकादशी के दिन विष्णु की पूजा की जाती है। आइये जानते हैं भगवान विष्णु की आराधना की विधि।

देवउठनी एकादशी के दिन प्रायः महिलाएं व्रत रखती हैं। उन्हें सुबह उठकर स्नानकर लेना चाहिए और घर के आंगन में चौका बनाना चाहिए। फिर भगवान विष्णु के पैर की आकृति बनाकर ढक दिया जाता है ताकि इसमें धूप ना लगे। फिर वहीं विष्णु जी को जगाने के लिए शंख, वीणा और अन्य बजने वाले यंत्र बनाया जाता है। शाम के समय घर में भजन कीर्तन भी किए जाते हैं। इसके बाद ही भगवान विष्णु की विधिवत पूजा का विधान है।

इस विधि से करें पूजा
सबसे पहले भगवान विष्णु का सिंहासन सजाएं। उसके बाद घर के आंगन में विष्णु का चित्र बनाकर उस पर फल, पकवान इत्यादि चढ़ाकर उसके ऊपर दीपक जलाना चाहिए।

मंत्र
भगवान की पूजा के बाद “यज्ञेन यज्ञमयजन्त देवास्तानि धर्माणि प्रथमान्यासन, तेह नाकं महिमानः सचन्त यत्र पूर्वे साध्याः सन्तिदेवाः॥” इस मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।

देवउठनी एकादशी की रात को सुभाषित स्त्रोत पाठ, भागवत कथा सुनने के बाद प्रसाद का वितरण करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here