पिछले साल करीब ढाई महीने तक चला डोकलाम विवाद एक बार फिर से गहराने लगा है. सोमवार को चीनी विदेश मंत्रालय ने डोकलाम पर अपना दावा जताते हुए कहा कि, ‘यह क्षेत्र उसके अधिकार क्षेत्र में आता है, इसलिए वह डोकलाम में आधारभूत सैन्य ढांचे का निर्माण कर रहा है.’ इस दौरान चीन ने कहा कि वह इस मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाना चाहता है.Image result for doklam issueचीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत और चीन को अपने सीमा विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से और मौजूदा तंत्र के जरिये सुलझाना चाहिये. गौरतलब है कि हाल ही में डोकलाम में चीन की सेना की गतिविधियां फिर से देखी गई थीं, जिसके बाद भारत ने आपत्ति व्यक्त की थी.Image result for doklam issueबता दे कि चीन में भारतीय राजदूत गौतम बंबावले ने एक इंटरव्यू में कहा था कि संवेदनशील इलाकों में यथास्थिति में बदलाव नहीं किया जाना चाहिये.

गौतम बंबावले के इस बयान को लेकर चीन ने कहा कि, दोनों देशों को सीमा विवाद का शांतिपूर्ण ढंग से समाधान निकालना चाहिए. इससे दोनों देशों के बीच मतभेदों के उचित समाधान के लिये स्थितियां और सक्षम माहौल बनेगी.

LEAVE A REPLY