Breaking News

जानिये सरदार सरोवर बाँध से जुड़ी ख़ास जानकारी

Posted on: 17 Sep 2017 08:21 by Ghamasan India
जानिये सरदार सरोवर बाँध से जुड़ी ख़ास जानकारी

नई दिल्ली : पीएम मोदी द्वारा उनके जन्मदिन के मौके पर आज सरदार सरोवर बाँध का उद्घाटन किया है, लेकिन इस बाँध के निर्माण से जुडी जानकारी कम लोगो के पास होगी, जानते है बाँध से जुडी कुछ जानकारी.

सरदार सरोवर बाँध दिया का दूसरा सबसे बड़ा बाँध है, इसकी उंचाई करीबन 800 मीटर है. सरदार पटेल ने नर्मदा नदी पर बांध बनाने की पहल 1945 में की थी. बाद में सरदार सरोवर बाँध की नीव भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने 5 अप्रैल, 1961 में रखी थी. और बाँध के निर्माण के बाद रौशनी के गुलाबी, सफेद और लाल रंग के 620 एलईडी बल्ब लगाए गए हैं . इनमें से 120 बल्ब बांध के 30 गेट पर लगे हैं. इनसे पैदा होने वाली रोशनी से ओवरफ्लो का आभास होता है. बांध के निर्माण में  86.20 लाख क्यूबिक मीटर कंक्रीट लगा है. इससे पृथ्वी से चंद्रमा तक सड़क बनाई जा सकती थी.

बाँध के निर्माण से गुजरात के 3,137 गांवों को फ़ायदा होगा जिससे नहरों के ज़रिए 9,000 गांवों में 18.45 लाख हेक्टेयर ज़मीन की सिंचाई कि जा सकती है, बाँध से पैदा होने वाली बिजली का 57 फ़ीसदी हिस्सा मध्य प्रदेश को जाएगा, जबकि 27 फ़ीसदी हिस्सा महाराष्ट्र को और गुजरात को इससे 16 फीसदी बिजली मिलेगी, जबकि राजस्थान को सिर्फ पानी मिलेगा, हालांकि बाँध के निर्माण कोलेकर विरोध भी हुआ है मोदी सरकार ने 2014 में महज 20 दिन के कार्यकाल में नर्मदा बांध (सरदार सरोवर) की ऊंचाई 121. 92 मीटर से बढ़ाकर 138.72 मीटर (455 फीट) तक किए जाने की अनुमति दी थी.  जिसका 1985 में जबरदस्त विरोध हुआ था. सामाजिक कार्यकर्ता मेघा पाटकर की अगुवाई में डैम का निर्माण रोकने की कोशिश हुई थी तब से लेकर आज तक विरोध जारी है.

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com