Breaking News

जब विदेशी युवक ने मेयर के पैर छू लिए…

Posted on: 31 Oct 2017 05:50 by Ghamasan India
जब विदेशी युवक ने मेयर के पैर छू लिए…

इन्दौर: स्वच्छ भारत मिशन तथा स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 में देश में इंदौर स्वच्छ नंबर वन शहर बना है, इसके पश्चात से ही इंदौर शहर की स्वच्छता व कार्य प्रणाली देखने के लिये देश के विभिन्न राज्यो के साथ-साथ विभिन्न शहरो के जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण आए है।  इसी क्रम में आज युनाइटेड स्टेट आॅफ अमेरिका की विभिन्न युनिवरसिटी के छात्र-छात्रा महापौर व विधायक श्रीमती मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड से महापौर सचिवालय पर सौजन्य भेट की।

इस अवसर पर कंसलटेंट श्री अरशद वारसी, श्री श्रीगोपाल जागताप, स्टुडेंट आॅफ युएस युनिवरसिटी के श्री करेन मेक, श्री सलेम निकोला, सुश्री मेगन बेला, श्री द्रविड मिलर, श्री पेनिटी हेनलाॅन तथा अन्य उपस्थित थे। इस अवसर पर महापौर श्रीमती गौड ने कहा कि इंदौर द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 में इंदौर देश में नंबर स्वच्छ शहर बनाने में इंदौर शहर के जनप्रतिनिधि, नागरिको, सामाजिक, धार्मिक संगठनो, व्यवसायिक संगठन, व्यापारिक संगठन, मिडिया तथा अन्य संगठनो द्वारा सहयोग किया है। इंदौर को स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 में नबर वन शहर बनाने में इंदौर शहर की नागरिको का बहुत ही बडा सहयोग रहा है, यहां की जनता बहुत ही जागृत है।

इंदौर शहर को स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिये निगम के अधिकारियो व कर्मचारियो का भी विशेष योगदान रहा है।  इस अवसर पर महापौर जी ने युएएस की युनिवरसिटी से आए छात्र-छात्राओ से पुछा कि आपने शहर की स्वच्छता देखी तथा सफाई व्यवस्था का अवलोकन किया है, आपको इंदौर शहर की सफाई व्यवस्था कैसी लगी, यहां की कार्य प्रणाली तथा कार्य में किसी प्रकार से सुधार का कोई सुझाव हो तो आप हमे बताये।

इस पर युएएस की युनिवरसिटी से आए छात्र-छात्राओ ने कहा कि हम विगत 2 दिनो से इंदौर शहर की सफाई व्यवस्था को देख रहे है, हमने पहली यहां देखा कि नगर निगम इंदौर द्वारा बडी की संख्या में डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन प्रतिदिन नियत समय व स्थान पर कचरा संग्रहण करने हेतु पहुच जाते है, इतना बडा शहर होने के पश्चात भी शहर में कही भी हमें कचरा दिखाई नही दिया।

आपके यहां डोर टू डोर कचरा संग्रहण का जो कार्य किया जा रहा है वह प्रशंनीय कार्य है। इंदौर की जनता के साथ-साथ यहां के जनप्रतिनिधि भी शहर को स्वच्छ रखने के लिये प्रतिबद्ध है, युएसए में तो जनप्रतिनिधियो से नागरिको का सीधा संवाद नही होता है, आप यहां की महापौर होते हुए भी सीधे नागरिको से संवाद करती है, उनकी समस्या के निदान के लिये आपने जो मेयर हेल्प लाईन तथा इंदौर मेयर 311 एप योजना जो चला रखी है, वह बहुत ही सराहनीय है।

हमे तो यह भी जानकारी मिली है कि मेयर हेल्प लाईन व इंदौर 311 एप में मिलने वाली शिकायतो का कम से कम समय में निदान हो जाता है, इस तरह से जनप्रतिनिधि का नागरिको से सीधा संवाद करना व उनकी समस्याओ का समय सीमा में निदान करना युएसए में इस तरह नही होता है, वहां तो किसी इवेन्ट या टाउन हाॅल में आयोजित समारोह के दौरान ही जनप्रतिनिधि नागरिको से मिलते है।  इंदौर वाकई स्वच्छता में देश में नंबर वन शहर बनने का हकदार है, यहां के नागरिक में जनभागीदारी से कार्य करने की बहुत ही अच्छ परम्परा है।

छात्रों के दल ने तांबे के लौटे से पीया पानी ।
और इस पर चर्चा भी की , बताया गया कि ये पर्यावरण के साथ साथ स्वास्थवर्धक भी है तो आश्चर्यचकित रह गए ।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com