छठ पूजाः आइये जानतें है छठ व्रत में सिर्फ लौकी और सरसों का साग ही क्यों बनता है

0
20

नई दिल्ली । छठ पूजा बिहार में बहुत धूमधाम से मनाई जाती है और इस के पीछे शास्त्रों के अनुसार कई पुराणिक कथा है लेकिन क्या आप जानतें है छठ व्रत में सिर्फ लौकी सरसों का साग ही क्यों बनता है

Related image

छठ के पहले व्रत को नहाय खाय के नाम से जाना जाता है, जो आज है। इस दिन व्रती नदी या तालाब में स्नान करके छठ व्रत करने का संकल्प लेते हैं। इस व्रत के दिन लौकी और सरसों का साग खाने का बड़ा महत्व है। क्या आप जानते हैं कि इस दिन यही क्यों खाया जाता है।

Image result for छठ व्रत

इसका कारण यह है कि कद्दू को शुद्घ और सात्विक माना जाता है। यह सुपाच्य भी होता है। जबकि सरसों का साग खाने का रिवाज इसलिए है क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है।

Image result for छठ व्रत लौकी

सरसों के साग को शुद्घ भी माना जाता है। छठ पर्व के दौरान लौकी और सरसों का साग बहुतायत में मिलता है। इसलिए भी नहाय खाय में लौकी और सरसों का साग खाया जाता है।

Image result for छठ व्रत लौकी

छठ व्रत में व्रती को काफी समय तक जल में खड़ा रहना पड़ता है, इससे सर्दी जुकाम की परेशानी न हो इसलिए व्रती सरसों का साग खाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here