Breaking News

गौसंवर्धन के क्षेत्र में सबसे ज्यादा काम किया दिग्विजय सिंह ने

Posted on: 10 Sep 2017 09:47 by Ghamasan India
गौसंवर्धन के क्षेत्र में सबसे ज्यादा काम किया दिग्विजय सिंह ने

मध्यप्रदेश: मध्यप्रदेश में गौ संवर्धन के क्षेत्र में सबसे ज्यादा किसी ने काम किया तो वे हैं दिग्विजय सिंह जी। गौ माता के प्रति उनका असीमित स्नेह हमेशा से रहा, उन्होंने मुख्यमंत्री रहते हुए मध्यप्रदेश में गौ संवर्धन बोर्ड की स्थापना की। गौ संवर्धन व जल संवर्धन उनके व्यक्तिगत रूचि के विषय थे वे अक्सर साधू-महात्माओं से निवेदन करते थे कि आप गौ शाला का निर्माण करिए, सरकार आपको ज़मीन लीज पर देगी। पूज्य संत कमल किशोर जी नागर से उन्होंने गौ शाला के निर्माण के लिए निवेदन किया तब नागर जी ने एक बहुत बड़ी गौ शाला की स्थापना की जिसे बनाने के लिए दिग्विजय सिंह जी ने हर संभव मदद की।

दिग्विजय सिंह जी हर क्षेत्र में जनभागीदारी को तरज़ीह देते थे, गौ संवर्धन के क्षेत्र में भी उन्होंने प्रदेश के नागरिकों को प्रेरित किया कि वे गौ शाला का निर्माण करें उसका एक उदाहरण मिलता है जब उन्होंने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगी सुभाष सोजतिया जी को गौ शाला के लिए प्रेरित किया और सोजतिया जी ने “विचक्षण ज्योति गौ शाला” नाम से एक बड़ी गौ शाला की स्थापना की जिसका उदघाटन स्वयं प्रदेश के मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जी ने वर्ष 2001 में किया।

अपने मुख्यमंत्री काल में राजा साहब अपने गुरु स्वामी स्वरूपानंद महाराज श्री के आश्रम झोतेश्वर में एक नव निर्मित गोशाला का उद्घाटन करने के लिए तत्कालीन वित्तमंत्री मुसरान साहब के साथ पहुंचे। उस समय उन्होंने अपने भाषण में देशी गाय के दूध, दही, घी, गोबर और गोमूत्र की गुणवत्ता बताते हुए कहा कि जर्सी और फ्रीजियन तो गाय ही नहीं होती। आज गौ रक्षा के नाम पर कितनी चर्चाएं हो रही हैं। आज कहने को पूर्ण रुप से तथाकथित हिन्दुओं की सरकार है फिर भी भारत सबसे बड़ा गौमांस का निर्यातक हो गया है। वहीँ दिग्विजय सिंह जी ने बड़ी कुशलता के साथ मध्यप्रदेश में गौ हत्या बंदी कानून बनाया जिससे हिन्दू मुस्लिम दोनों ही पक्ष संतुष्ट रहे। उनके सभी धर्मों के प्रति सम्मान को देखते हुए ये कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि भारत में सचमुच अगर हिन्दू धर्म सहित सभी सम्प्रदायों का सम्मान पूर्वक रक्षण कोई कर सकता है तो वो हैं राजा साहब दिग्विजय सिंह जी।

आज दिग्विजय सिंह जी के पदचिन्हों पर चलते हुए उनके सुपुत्र जयवर्द्धन सिंह ने अपने विधानसभा क्षेत्र में जनभागीदारी से एक गौ शाला का निर्माण किया है, वैसे भी दिग्विजय सिंह जी के सुपुत्र विधायक जयवर्द्धन सिंह के संस्कार उनकी उम्र से बहुत बड़े हैं। पूर्वजों के यही संस्कार पिता व पुत्र दोनों को हिन्दू धर्म के प्रति आकर्षित करते हैं और उन्ही संस्कारों की प्रेरणा से दिग्विजय सिंह जी 30 सितम्बर दशहरे के दिन से भगवती नर्मदा जी की सम्पूर्ण पैदल परिक्रमा करने जा रहे हैं। नर्मदा माई उनके पूरे परिवार पर कृपा बनाएं रखें ऐसी हम सबकी कामना है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com