Breaking News

गर्भ अवस्था के दौरान महिलाये बरतें सावधानी

Posted on: 20 Sep 2017 09:15 by Ghamasan India
गर्भ अवस्था के दौरान महिलाये बरतें सावधानी

हेल्थ डिस्क । चिकनगुनिया, मलेरिया व डेंगू आदि  गर्भवती महिलाओं को जल्दी हो जाती हैं क्योंकि अक्सर इनकी इम्युनिटी कमजोर होती है। ऐसे में कई बार मौसमी बीमारी का वायरस गर्भवती से बच्चे में भी जाने का खतरा रहता है। इस दौरान क्या सावधानी बरतें…

बचाव ही बेहतर इलाज : प्रेग्नेंसी के दौरान पूरी बाजू के कपड़े पहनें, साफ-सफाई रखें, मच्छरों को दूर रखने के लिए क्रीम लगाएं व अन्य टीकाकरण के साथ डेंगू वैक्सीन भी लगवाएं।

ऐसे में गर्भावस्था के शुरुआती व अंतिम तीन महीनों में शिशु को अधिक खतरा रहता है। इस दौरान मां के शरीर में पानी की कमी होने से गर्भस्थ शिशु का शारीरिक विकास बाधित हो सकता है।

किसी भी तरह का वायरस जब शरीर पर हमला करता है तो पहले लक्षण के रूप में बुखार सामने आता है। इसके बाद ही अन्य परेशानियां जैसे अधिक प्यास लगना, पसीना आना, थकान आदि महसूस होती हैं। ऐसे में लापरवाही किए बगैर फौरन चिकित्सक से संपर्क करें।

ये जांच कराएं
टैस्ट कराना चाहिए क्योंकि इसमें वायरस की पहचान तुरंत होती है। यह टैस्ट थोड़ा महंगा है लेकिन इससे सटीक इलाज किया जा सकता है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com