Breaking News

ऐतिहासिक फैसला: माँ-बाप की देखभाल नहीं करने पर कटेगी सैलरी

Posted on: 16 Sep 2017 05:58 by Ghamasan India
ऐतिहासिक फैसला: माँ-बाप की देखभाल नहीं करने पर कटेगी सैलरी

नई दिल्ली। देश में पहली बार किसी सरकार ने बूढे माँ-बाप के दर्द को समझा है। बुढापे में माँ-बाप को दर-दर की ठोकर खाने से बचाने के लिए असम सरकार ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए नया क़ानून बनाया है। इस कानून के तहत यदि कोई सराकारी कर्मचारी बुजुर्ग मां-बाप की जिम्मेदारी उठाने से बचता है तो उसकी सैलरी से पैसे काटे जाएंगे।

असम एम्पलॉयीज प्रणाम बिल पर विधानसभा में चर्चा के दौरान राज्य के वित्त मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि उनकी सरकार को यह मंजूर नहीं कि कोई भी शख्स अपने बुजुर्ग मां-बाप को ओल्ड एज होम में छोड़कर जाए। उन्होंने दावा किया कि इस तरह का कानून बनाने वाला असम देश का पहला राज्य है। राज्यपाल की मंजूरी मिलने के बाद यह कानून लागू हो गया जाएगा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com