आज ही के दिन हिन्दुस्तान को मिली थी जन्नत

0
21

श्रीनगर: कश्मीर को धरती का स्वर्ग कहा जाता है और अभी दुनिया में  राजनीतिक रूप में सबसे ज़्यादा उलझे मुद्दों में कश्मीर शुमार करता है।.भारत आज की तारिख यानि 26 अक्टूबर को कभी नहीं भूल सकता  क्योकि आज ही के दिन हिन्दुस्तान को धरती का स्वर्ग मिला था। 26 अक्‍टूबर 1947 को ही कश्मीर का भारत में विलय हुआ था।

Image result for kashmirआज ही के दिन जम्‍मू कश्‍मीर के महाराजा हरिसिंह ने राज्‍य के भारत में विलय के लिए एक कानूनी दस्‍तावेज को साइन किया था। इस संधि को 70 साल बीत गए हैं। लेकिन आज़ादी की आवाज़ आज भी घाटियों में गूंजती सुनाई देती हैं। जानिए आज़ादी के बाद आखिर साल दर साल हुआ क्या था?

Image result for kashmir1947- अंग्रेज़ों का शासन ख़त्म हुआ। भारत से निकलकर धर्म के आधार पर पाकिस्तान नाम का नया मुल्क अस्तित्व में आया।

1947- पाकिस्तान की कबाइली सेना ने कश्मीर पर हमला किया। जनता और रियासत को बचाने के लिए महाराजा हरि सिंह ने भारत के विलय संधि पत्र पर हस्ताक्षर कर दिया।

Related image1948- भारत ने कश्मीर के मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा काउंसिल में उठायासाथ ही कश्मीर में पाक सेना की मौजूदगी हटाने और भारतीय सेना को कम करने का आदेश मिला।

1951- कश्मीर में चुनाव प्रक्रिया पूरी हुई। इसके बाद भारत ने जनमत संग्रह की बात को नकारा. पाक जनमत संग्रह की मांग पर अड़ा।
Related image1953- भारत विरोधी स्वर उठाने पर तत्कालीन कश्मीर के प्रधानमंत्री शेख अब्दुल्ला को निष्काषित कर गिरफ्तार कर लिया गया। नई सरकार ने विलय संधि को मान्यता दी।

1957– भारतीय संविधान के मुताबिक कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग माना गया।

Related image

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here