• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   दिल्ली: तिलक नगर सीट पर आम आदमी पार्टी उम्मीदवार की जीत।
    •   सीलमपुर से बीजेपी की उम्मीदवार शकीला बेगम जीतीं
    •    हार के बाद केजरीवाल के घर बैठक,सिसोदिया और गोपाल राय भी मौजूद,,EVM पर हो रही है चर्चा
    •   अगर बीजेपी जीतती है तो सीएम अरविंद केजरीवाल को अपना इस्तीफा देने के लिए तैयार रहना चाहिए: मनोज तिवारी,
    •   दिल्ली में दो सीटों पर नतीजे आए, खानपुर और मदनगीर में बीजेपी को जीत।
    •   उत्तरी दिल्ली MCD रुझान- भाजपा- 71,कांग्रेस-14,आप-16,अन्य-2
    •   उत्तरी दिल्ली में बीजेपी 72 सीट से आगे, आप 18, कांग्रेस 13
    •   दिल्ली नगरपालिका चुनाव में बीजेपी 165 सीटों पर आगे
    •   दक्षिणी दिल्ली के टैगोर गार्डन से बीजेपी प्रत्याशी आगे।
    •   पूर्वी दिल्ली की 63 सीटों में से 41 पर बीजेपी आगे चल रही है।
    •   उत्तरी दिल्ली: 104 सीटों में 70 पर बीजेपी आगे चल रही है।
    •   पूर्वी दिल्ली की झिलमिल सीट से आम आदमी पार्टी की निशा शर्मा आगे।
    •   एमसीडी की 270 सीटों के रुझान सामने आए, तीनों निगमों में बीजेपी को बहुमत।
    •   पूर्वी दिल्ली की सभी सीटों के रुझान सामने आए, बीजेपी को बहुमत। कांग्रेस-आप 12-12 सीटों पर आगे।
    •   2012 के निगम चुनाव में बीजेपी को मिली थी 142 सीटें।
    •   पूर्वी दिल्ली के मुस्तफाबाद से बीजेपी प्रत्याशी सबरा मलिका आगे।
    •   दिल्ली: जामा मस्जिद इलाके में बीजेपी प्रत्याशी आशा आगे चल रही हैं।
    •   दिल्ली: तीनों निगमों की 150 सीटों पर बीजेपी को मिली बढ़त।
    •   MCD: 270 में से 197 सीटों के रुझान: 134 पर बीजेपी, 40 पर कांग्रेस.
    •   दिल्ली: शुरुआती रुझानों में बीजेपी नंबर एक, कांग्रेस 2 और AAP तीसरे नंबर की पार्टी।

Movie Review: कनफ्यूजन ज्यादा इमोशनल कम है मिर्जा जूलियट

img
Movie Review: कनफ्यूजन ज्यादा इमोशनल कम है मिर्जा जूलियट Ghamansan Editor

इसी तरह की प्रेम कहानी को डायरेक्टर राजेश राम सिंह ने पेश किया है।

फिल्म : मिर्जा जूलियट
डायरेक्टर: राजेश राम सिंह
स्टार कास्ट: पिया बाजपेयी, दर्शन कुमार, चंदन रॉय सान्याल, प्रियांशु चटर्जी
अवधि: 2.05 घंटे
रेटिंग: 2.5 स्टार
मुंबई। बॉलीवुड में हीर-रांझा, रोमियो-जूलियट और लैला-मजनू की कहानियों को लेकर कई फिल्में बनाई गई हैं। इसी तरह की प्रेम कहानी को  डायरेक्टर राजेश राम सिंह ने पेश किया है।  

कहानी: यह कहानी इलाहाबाद के धर्मराज शुक्ला (प्रियांशु चटर्जी) की बहन जूली शुक्ला (पिया बाजपेयी) और मिर्जा (दर्शन कुमार) की है। जूली बचपन से ही भाइयों का लाड-प्यार में पली-बढ़ी है। वह निडर है और आसपास के लोगों को भी ऐसा बनने की सीख देती है।  

जूली की शादी शहर के दबंग के बेटे राजन (चंदन रॉय सान्याल) से पक्की होती है, जो उसके साथ शादी से पहले ही संबंध बनाने की कोशिश करता है।कहानी में ट्विस्ट और टर्न्स तब आते हैं जब मिर्जा और जूलियट के बीच प्यार होता है।

कमजोर कड़ी:फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी घि‍सी-पिटी कहानी है, जो सदियों से चली आ रही है और हाल ही में कुछ ऐसी ही कहानी 'मिर्ज्या' फिल्म में भी राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने दिखाने की कोशिश की थी।फिल्म की लेंथ 2 घंटे के करीब की है लेकिन एडि‍टिंग सही न होने के चलते यह खिंची हुई लगती है। वहीं धार्मिक दंगों वाले सीन भी ताल में नहीं लगते है।

देखे या नहीं:पिया बाजपेयी अपने किरदार को एक अलग ही अंदाज़ में जिया है वह याद रह जाती है। उनका अभिनय फिल्म की खासियत है यह कहना गलत न होगा।चन्दन रॉय सान्याल अपनी लाउड भूमिका से ध्यान आकर्षित करने में कामयाब रहे हैं। स्वानंद किरकिरे की मेहनत उनके किरदार में दिखती हैं।

Posts Carousel