• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   अभिनेता विनोद खन्ना का निधन
    •   भटके नौजवानों की होगी वापसी
    •    MCD में हार: AAP के पंजाब प्रभारी संजय सिंह ने दिया इस्तीफा
    •   ग्रेटर नोएडा: प्राइवेट युनिवर्सिटी की 21 वर्षीय छात्रा का अपहरण कर गाड़ी में किया गया रेप, FIR दर्ज
    •   सीरिया: दमिश्क एयरपोर्ट पर बड़ा धमाका होने की खबर।
    •   दिल्ली: अरविंद केजरीवाल ने आज सुबह 11.15 बजे CM आवास पर हार के लिए सभी विधायकों की बैठक बुलाई।
    •   दिल्ली: तिलक नगर सीट पर आम आदमी पार्टी उम्मीदवार की जीत।
    •   सीलमपुर से बीजेपी की उम्मीदवार शकीला बेगम जीतीं
    •    हार के बाद केजरीवाल के घर बैठक,सिसोदिया और गोपाल राय भी मौजूद,,EVM पर हो रही है चर्चा
    •   अगर बीजेपी जीतती है तो सीएम अरविंद केजरीवाल को अपना इस्तीफा देने के लिए तैयार रहना चाहिए: मनोज तिवारी,
    •   दिल्ली में दो सीटों पर नतीजे आए, खानपुर और मदनगीर में बीजेपी को जीत।
    •   उत्तरी दिल्ली MCD रुझान- भाजपा- 71,कांग्रेस-14,आप-16,अन्य-2
    •   उत्तरी दिल्ली में बीजेपी 72 सीट से आगे, आप 18, कांग्रेस 13
    •   दिल्ली नगरपालिका चुनाव में बीजेपी 165 सीटों पर आगे
    •   दक्षिणी दिल्ली के टैगोर गार्डन से बीजेपी प्रत्याशी आगे।
    •   पूर्वी दिल्ली की 63 सीटों में से 41 पर बीजेपी आगे चल रही है।
    •   उत्तरी दिल्ली: 104 सीटों में 70 पर बीजेपी आगे चल रही है।
    •   पूर्वी दिल्ली की झिलमिल सीट से आम आदमी पार्टी की निशा शर्मा आगे।
    •   एमसीडी की 270 सीटों के रुझान सामने आए, तीनों निगमों में बीजेपी को बहुमत।
    •   पूर्वी दिल्ली की सभी सीटों के रुझान सामने आए, बीजेपी को बहुमत। कांग्रेस-आप 12-12 सीटों पर आगे।

देश की तीसरी बड़ी IT कंपनी ने 600 लोगों को निकाला

img
देश की तीसरी बड़ी IT कंपनी ने 600 लोगों को निकाला Ghamansan Editor

दिसंबर 2016 के अंत तक कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 1.76 लाख से अधिक थी.

नई दिल्ली: देश की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी विप्रो ने कर्मचारियों के कामकाज की सलाना समीक्षा के बाद अपने 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है.

आपको बता दे कि विप्रो ने ये कार्रवाई कंपनी के कामकाज की वार्षिक समीक्षा के बाद की. दिसंबर 2016 के अंत तक कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 1.76 लाख से अधिक थी.

विप्रो ने कहा कि कंपनी, अपने टार्गेट्स को कार्यबल के हिसाब से करने के लिए नियमित आधार पर कर्मचारियों के कामकाज का मूल्यांकन करती रहती है. ये कंपनी की रणनीति, प्राथमिकताओं और ग्राहक की जरूरत के अनुसार किया जाता है. इस मूल्यांकन के बाद कुछ कर्मचारियों को नौकरी छोड़नी पड़ती है. नौकरी से निकाले गए वाले इन लोगों की संख्या हर साल बदलती रहती है.

Posts Carousel