• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   दिल्ली: तिलक नगर सीट पर आम आदमी पार्टी उम्मीदवार की जीत।
    •   सीलमपुर से बीजेपी की उम्मीदवार शकीला बेगम जीतीं
    •    हार के बाद केजरीवाल के घर बैठक,सिसोदिया और गोपाल राय भी मौजूद,,EVM पर हो रही है चर्चा
    •   अगर बीजेपी जीतती है तो सीएम अरविंद केजरीवाल को अपना इस्तीफा देने के लिए तैयार रहना चाहिए: मनोज तिवारी,
    •   दिल्ली में दो सीटों पर नतीजे आए, खानपुर और मदनगीर में बीजेपी को जीत।
    •   उत्तरी दिल्ली MCD रुझान- भाजपा- 71,कांग्रेस-14,आप-16,अन्य-2
    •   उत्तरी दिल्ली में बीजेपी 72 सीट से आगे, आप 18, कांग्रेस 13
    •   दिल्ली नगरपालिका चुनाव में बीजेपी 165 सीटों पर आगे
    •   दक्षिणी दिल्ली के टैगोर गार्डन से बीजेपी प्रत्याशी आगे।
    •   पूर्वी दिल्ली की 63 सीटों में से 41 पर बीजेपी आगे चल रही है।
    •   उत्तरी दिल्ली: 104 सीटों में 70 पर बीजेपी आगे चल रही है।
    •   पूर्वी दिल्ली की झिलमिल सीट से आम आदमी पार्टी की निशा शर्मा आगे।
    •   एमसीडी की 270 सीटों के रुझान सामने आए, तीनों निगमों में बीजेपी को बहुमत।
    •   पूर्वी दिल्ली की सभी सीटों के रुझान सामने आए, बीजेपी को बहुमत। कांग्रेस-आप 12-12 सीटों पर आगे।
    •   2012 के निगम चुनाव में बीजेपी को मिली थी 142 सीटें।
    •   पूर्वी दिल्ली के मुस्तफाबाद से बीजेपी प्रत्याशी सबरा मलिका आगे।
    •   दिल्ली: जामा मस्जिद इलाके में बीजेपी प्रत्याशी आशा आगे चल रही हैं।
    •   दिल्ली: तीनों निगमों की 150 सीटों पर बीजेपी को मिली बढ़त।
    •   MCD: 270 में से 197 सीटों के रुझान: 134 पर बीजेपी, 40 पर कांग्रेस.
    •   दिल्ली: शुरुआती रुझानों में बीजेपी नंबर एक, कांग्रेस 2 और AAP तीसरे नंबर की पार्टी।

रियल इस्टेट ब्रोकर और एजेंट को पंजीकरण करवाना अनिवार्य: नायडू

img
रियल इस्टेट ब्रोकर और एजेंट को पंजीकरण करवाना अनिवार्य: नायडू Ghamansan Editor

इस्टेट रेग्युलेटरी अधिनियम के तहत पंजीकरण करवाना होगा

नई दिल्ली। ब्रोकरों और एजेंट्स को रियल इस्टेट रेग्युलेटरी अधिनियम के तहत पंजीकरण करवाना होगा लेकिन सरकार की और से इस पर पर्याप्त स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है।

क्या ये पंजीकृत ब्रोकर घर के खरीददारों के लिए किसी तरह से फायदेमंदहोंगे इस तरह की स्पष्टीकरण प्रक्रिया किस तरह से फायदेमंद होगी।

शहरी विकास,आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन के केन्द्रीय मंत्री वैकेया नायडू ने कहा,”नियम एकदम साफ़ है, ब्रोकरों और एजेंट्स को अपना पंजीकरण करवाना होगा अगर डेवलपर समय पर परियोजना की डिलीवरी देने में नाकाम रहता है तो वे भी इसके लिए जिम्मेदार होंगे।”

प्राधिकरण प्रणाली में पारदर्शिता लाना चाहता है ऐसे में खरीददारों के फायदे के लिए इस तरह के कदम उठाना जरुरी है नायडू ने कहा,”अंत में यह राज्य के अधिकार में निहित है राज्य अपने स्तर पर सही मॉडल के निर्माण के लिए जिम्मेदार है।”

नायडू ने कहा कि हमारे देश में ब्रोकरों(दलालों) के साथ नकारात्मक पहलू जुड़ा है ”एजेंट के पंजीकरण द्वारा हम पूरी प्रक्रिया को व्यवस्थित बनाना चाहते है और कानून के दायरे में लाना चाहते है।

एजेंट इस प्रक्रिया में पैसा कमा सकते है और इसके संदर्भ में कोई मुद्दा नहीं है जहां तक जवाबदेहिता और जिम्मेदारी का सवाल है(पंजीकरण के द्वारा) एजेंट्स मुक्त रूप से काम कर सकते है।

Posts Carousel