• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   मप्र में 10-12वी बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट 12 मई को होंगे घोषित।
    •   मुंबई के पास AIS महिला ऑफिसर को बंधक बनाकर बदसलूकी की गई
    •   मधुर भंडारकर पर रेप का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस को 3 साल की सजा, मधुर के मर्डर की थी प्लानिंग
    •   बिहार में 'बाहुबली 2 का जबरदस्‍त क्रेज, रविवार तक सिनेमाघर हाउसफुल
    •   UP: पेट्रोप पंप चिप कांड में STF ने 23 को पकड़ा, 7 पंपों को किया सील
    •   लिखा हुआ या बदरंग नोट नहीं लिया तो बैंक कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई
    •   AAP के मोहल्ला क्लीनिक में पानी का कनेक्शन तक नहीं, डॉक्टर-मरीज परेशान
    •   CM बनने के बाद योगी का आज गोरखपुर में दूसरा दौरा, 10 से ज्यादा प्रोजेक्ट्स का करेंगे शिलान्यास
    •   दिल्ली एयरपोर्ट पर 'ISI एजेंट' का अजीबोगरीब सरेंडर, काउंटर पर आकर किया खुलासा
    •   उत्तर कोरिया ने फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, अब US करेगा जवाबी कार्रवाई
    •   scका इनकार : घाटी में जब तक नहीं रुकेगी पत्थरबाजी, नहीं लगायी जा सकती पैलेट गन के इस्तेमाल पर रोक
    •   मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद को हार्ट अटैक, हालत नाजुक: मीडिया रिपोर्ट्स
    •   मुजफ्फरनर के मंसूरपुर के गांव पुरा में डकैती के दौरान एक की हत्या, पुलिस के आलाधिकारी कई थानो की फोर्स के साथ
    •   गाजियाबाद: शास्त्री नगर एफ ब्लॉक में बाइक सवार बदमाशों ने कारोबारी से बंदूक की नोक पर की लूटपाट।
    •   रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को बेल देने वाले POCSO कोर्ट के जज ओपी मिश्रा को सस्पेंड किया गया।
    •   कानपुर: कुपवाड़ा हमले में शहीद हुए कैप्टन आयुष यादव का पार्थिव शरीर उनके घर लाया गया।
    •   बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज से दो दिन के जम्मू-कश्मीर के दौरे पर रहेंगे।
    •   MCD चुनाव में हार के बाद अरविंद केजरीवाल का ट्वीट, लिखा- हमने गलतियां की, अब आत्मचिंतन करेंगे।
    •   नोएडा के सेक्टर-93ए स्थित सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट में एसटीएफ की रेड में जब्त कम्युनिकेशन ऐंड रेकॉर्डिंग डिवाइस।
    •   RBI से लाइसेंस प्राप्त कोऑपरेटिव बैंकों को क्रेडिट और डेबिट कार्ड जारी करने की होगी छूट

जानें यहाँ सिर्फ कंडों से होता है अंतिम संस्कार

img
जानें यहाँ सिर्फ कंडों से होता है अंतिम संस्कार Ghamansan Editor

परंपरा के पीछे ये है मान्यता

रायपुर: दुर्ग, बेमेतरा व बालोद में 365 कंडों से चिता सजाने की परंपरा है, जिसे  हर घर से दिया जाता है। ग्रामीण बताते हैं कि कंडा पवित्र है, इससे चिता जलाने पर वातावरण शुद्धि होती है।

गांव में किसी की मौत पर हर घर से कंडे लाकर नियत स्थल पर रख दिए जाते हैं।फिर उन कंडों व कुछ लकड़ियों को बैलगाड़ी से श्मशान पहुंचाया जाता है। 6 फीट लंबी, 3 फीट चौड़ी व 6 इंच गहरी जगह तैयार कर 365 साबुत कंडों से चिता सजाने का काम शुरू होता है।

आपको बता दें कि औसतन एक चिता में 5 क्विंटल तक लकड़ी लगती है, जिसकी कीमत लगभग 3 हजार रुपए है। परिवहन खर्च अलग। कमर व छाती वाले हिस्से के दहन में एक क्विंटल तक लकड़ी लगती है। कंडे से अंत्येष्टि में 4 क्विंटल तक लकड़ी कम लगती है।

परंपरा के पीछे ये है मान्यता
365 कंडों को साल के 365 दिन व चक्के को कालचक्र का प्रतीक माना जाता है। इसीलिए इनका उपयोग अनिवार्य है। पूजनीय वनस्पतियों नीम, पीपल व वट के बजाय आम या बबूल की लकड़ियों का उपयोग होता है।

Posts Carousel