• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   लखनऊ के बापू भवन में लगी आग
    •   मुरली विजय को गाली देकर धोखेबाज कहते दिखाई दिए ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ, वीडियो वायरल
    •   एक सीरीज, दो कप्तान और जीतेगा हिंदुस्तान
    •   धर्मशाला टेस्ट Live: चौथे दिन भारत उतरेगा टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाने, जीत से 87 रन दूर
    •   चार दिन बाद शादी के बंधन में बंधेंगी ओलंपियन पहलवान साक्षी ​मलिक
    •   रेलमंत्री : रेलवे को पूरी तरह डिजिटल बनाने से होगा 40 हजार करोड़ का फायदा
    •   जीएसटी संबंधी चार सहायक बिल पेश, स्टेट बिल के पास होते ही आकार ले लेगा जीएसटी
    •   परीक्षा में नकल रोकने के लिए यूपी सरकार ने जारी की हेल्पलाइन
    •   तो क्या जिन्ना हाउस को जमींदोज कर दिया जाएगा?
    •   सुप्रीम कोर्ट ने पूछा,जम्मू-कश्मीर में अल्पसंख्यक कौन है?
    •   J&K के बडगाम में एनकाउंटर जारी, 2 आतंकियों के छिपे होने की आशंका
    •   UP: छात्र मनीष खारी की मौत मामले में पाचं नाइजिरियाई छात्रों पर FIR
    •   सीपीईसी की वजह से कश्मीर पर अपना रुख नहीं बदलेगा चीन
    •   कपिल शर्मा की बढ़ी मुश्किलें- गलत बर्ताव के खिलाफ एयर इंडिया उठा सकता है उनपर बड़ा कदम!
    •   देश में इस बार पड़ेगी झुलसा देने वाली गर्मी, रेकॉर्ड तोड़ेगा तापमान
    •   मुस्लिम पसर्नल लॉ बोर्ड ने SC से कहा- तीन तलाक को अवैध ठहराना कुरान दोबारा लिखने जैसा
    •   बिहार के मधेपुरा से सांसद पप्पू यादव गिरफ्तारी के बाद आज होंगे कोर्ट में पेश, बोले- मुझे फंसाया जा रहा है
    •   चौथे दिन का खेल शुरू, लगातार सातवीं सीरीज जीत से 87 रन दूर है टीम इंडि
    •   ट्रम्प ने मोदी को फोन कर चुनावी जीत पर दी बधाई, दो महीने में तीसरी बार हुई बात
    •   उत्तर प्रदेश: मथुरा में बोर्ड परीक्षा कैंसल।

स्टार्ट अप कम्पनी अपने प्रचार व मीडिया से तालमेल को ऐसे बनाए प्रभावी

img
स्टार्ट अप कम्पनी अपने प्रचार व मीडिया से तालमेल को ऐसे बनाए प्रभावी Ghamansan Editor

उनके पास एक अच्छा विज्ञापन या अच्छी पीआर कम्पनी नहीं होती है।

नई दिल्ली। जब भी आप किसी नए उधोग या सर्विस को लाते है तो उसके लिए अपना पैसा, नींद व सोशल लाइफ सहित सभी कुछ दांव पर लगा देते है। परन्तु सबसे बड़ी समस्या यह है कि अधिकतर स्टार्टअप कम्पनियां विज्ञापन पर पैसा खर्च नहीं करती है या उनके पास एक अच्छा विज्ञापन या अच्छी पीआर कम्पनी नहीं होती है।

पीआर 24*7 के डायरेक्टर अतुल मालिकराम ने बताया कि आपके स्टार्टअप की जानकारी आम आदमी तक पहुंचाने व उसमें रूचि बढ़ाने के लिए कुछ निम्न बिन्दुओं पर ध्यान दे-

अपने बड़े लक्ष्य व उद्देश्य को लोगों तक पहुंचाए- मीडिया को अपने व्यवसाय या सर्विस की अच्छाईयां बताना ही पर्याप्त नहीं है,अपितु आपकी कम्पनी क्यों है, मार्केट की समस्या को कैसे देखती है इत्यादि बाते बताते हुए प्रासंगिक विषयों पर मीडिया से बात करें मीडिया से कैसे बात करते है।

यह जानना जरुरी है बिलगेट्स का कहना है कि में अपना अंतिम डॉलर भी अपनी पीआर कंपनी पर खर्च करना चाहूँगा जिस ढंग से कम्पनी अपनी बात कहती है वह उसकी कंपनी व ब्रांड को प्रभावित करता है मीडिया से बात करने के लिए तैयारी कुछ इस तरह से करे।

अपनी कहानी स्वयं बनाए- कौन-सी चीजे आपके बिजनेस को मेटर करती है, आपके उत्पाद की विशेषताएं उसका पुष्टीकरण व ग्राहक की समस्याएं, इन सबकों ध्यान में रखकर अपनी बात बताए।

मीडिया से बात करने से पहले मीडिया को जाने- आपके ग्राहक कौन से मीडिया पर जाते है या कौन से रिपोर्टर आपके जैसी कम्पनी को रिपोर्ट करते है रिपोर्टर क्या सोचते है वे आपको कैसे कवर करेंगे इत्यादि बाते रिपोर्टर से करे।

तीन मुख्य बिंदु चुने- प्रेस कान्फ्रेंस में बोलने के लिए तीन मुख्य बिंदु चुनकर संक्षिप्त रूप से इसके आसपास अपनी बात केन्द्रित रखे। जो आप पेपर में नहीं पढना चाहते वह नहीं कहे- ऐसा कुछ मत कहिए जो आपकी कम्पनी, कर्मचारी, निवेशक या ग्राहक पर बुरा प्रभाव डालें क्योंकि यहां ऑफ़ लाइन कुछ नहीं होता है।स्वयं को उनके स्थान पर रखकर देखे- समय व विषय वस्तु का खास ध्यान रखे क्योंकि रिपोर्टर व्यस्त रहते है वह दुबारा नहीं आएगा।

1.दिमाग से प्रभाव लोगों तक पहुंचाए-  लोगो तक अपनी बात पहुंचाने के पहले उनके विचार जाने सोशल प्लेटफार्म पर पहले रचनात्मक तरीकों का विश्लेषण व मंथन करने के बाद मीडिया में स्वयं को व अपने उत्पाद को प्रस्तुत करें।

2. सार्वजनिक अवसरों पर बोलने पर ध्यान दे- सोशल मीडिया या किसी सार्वजनिक आयोजन में बोलने के लिए तैयारी पुरी करें, मनोरंजक रूप से बात कहे तथा भाषा व संबंध मूल्यों का भी ध्यान रखे,तो आपके स्टार्टअप का शीघ्रता से प्रचार हो सकता है। सोशल मीडिया तथा जहां आपको बोलने का मौका मिले, वह आपके अच्छे प्रचार है। अत: अपनी बात पूरी स्पष्टता से रखे अक्सर सार्वजनिक स्थानों पर बोलने में भय व हिचकिचाहट होती है,अत: सबसे पहले भय को स्वीकार करें आत्मविश्वास के साथ पूरी तैयारी करके जाए व अपने विषय वस्तु पर केन्द्रित रहे तथा श्रोताओं से जुड़ने का प्रयास करें।

3. विषय को महत्वपूर्ण बनाए- यदि आप की विषय वस्तु ऐसी है जिसमें सभी पहलुओं को समाहित किया गया है, तो आप प्रेस में अन्य उधोग प्रमुखों में व अपने प्रतिद्वंदियों में अपनी बात अच्छी तरह रख सकते है सिर्फ उत्पाद या सर्विस बेचने के उद्देश्य से सूचनात्मक विषय वस्तु हो तो सीमित ग्राहकों तक ही बात पहुंचती है।

4. अपनी पहचान बनाने का प्रयास करें- विभिन्न एवाडित प्रशंसा सूचि के लिए आवेदन करते रहे मीडिया घराने भी वार्षिक सूचि प्रकाशित करते है, उनमें नाम आने पर निवेशकों विश्लेषकों व जनता का ध्यान आकर्षित होता है। बहुत सी संस्थाए भी व्यक्तिगत स्तर पर एवाडिस देती है। हर संभव नगर पर अपनी कंपनी के बारे में जानकारी भेजते रहे।

पीआर 24*7 अपने ग्राहकों को बेहतर सेवाएं देने के साथ मीडिया में प्रभाव बनाने में भी मददगार है स्टार्टअप कंपनिया पीआर 24*7 की सेवाएं लेकर सोशल मीडिया व अन्य प्लेटफार्म पर ताजा जानकारी से संपर्क से रहते हुए अपनी सभी ख़बरों का व्यवस्थित रूप से रिकार्ड रख सकती है। जनसंपर्क कंपनियों में पीआर 24*7 एक विश्वसनीय नाम के साथ अपनी अलग पहचान रखती है।