• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   रिवर फ्रंट को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे है सीएम योगी
    •   लखनऊ : गोमती रिवर फ्रंट पर पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ
    •    मणिपुर : पर्यटकों की बस दुर्घटनाग्रस्त, 8 लोगों की मौत
    •   लखनऊ: आज सुबह 11 बजे सीएम योगी आदित्यनाथ गोमती रिवरफ्रंट का निरीक्षण करेंगे।
    •   मणिपुर: सेनापति जिले में टूरिस्ट बस पलटी, 8 की मौत।
    •   महाराष्ट्र: उस्मानाबाद से सांसद रविंद्र गायकवाड़ के समर्थन में आज शिवसेना ने इस इलाके में बंद का ऐलान किया।
    •   मुरादाबाद: घर के फंक्शन में बीफ इस्तेमाल करने के लिए परिवार ने पुलिस से मांगी मंजूरी, पुलिस ने इनकार किया।
    •   CBFC चेयरपर्सन पहलाज निहलानी और केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू आज लॉन्च करेंगे CBFC ऑनलाइन सर्टिफिकेशन।
    •   तमिलनाडु: 3 महिलाओं ने गाड़ी से कोयंबतूर से लंदन की यात्रा शुरू की।
    •   पंजाब: गुरदासपुर में BSF जवानों ने पहाड़ीपुर पोस्ट के पास एक पाकिस्तानी घुसपैठिये को ढेर किया। (ANI)
    •   दिल्ली: देर रात निरंकारी कॉलोनी के पास बस पलटी। 12 गंभीर रूप से घायल।
    •   उत्तरप्रदेश : बूचड़खाने बंद होने के विरोध में आज से मांस कारोबारियों की बेमियादी हड़ताल
    •   ईरान ने 15 अमेरिकी कंपनियों पर लगाई पाबंदी
    •   BCCI अधिकारियों के लिए COA ने जारी किए सात सूत्री निर्देश
    •   नजीब मामले में आज छात्रों की याचिका पर पटियाला हाउस कोर्ट में होगी सुनवाई
    •   पंजाब : गुरदासपुर में BSF जवानों ने एक पाकिस्तानी घुसपैठिए को मार गिराया
    •   तेलंगाना: ऐक्सपायर्ड दवाई खाने से 12 बच्चे बीमार पड़े।
    •   दिल्ली : निरंकारी कॉलोनी के पास बस पलटी, 12 लोग घायल
    •   चीन के युनान प्रांत में भूकंप के झटके, 5.1 रही तीव्रता
    •    लखनऊ : सुबह 11 बजे गोमती रिवर फ्रंट जाएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ

क्रूड 58 डॉलर तक जा सकता है, पेट्रोल-डीजल के बढ़ सकते हैं दाम

img
क्रूड 58 डॉलर तक जा सकता है, पेट्रोल-डीजल के बढ़ सकते हैं दाम Ghamansan Editor

हालांकि इंडियन ऑयल और भारत पेट्रोलियम को रिफाइनिंग मार्जिन बढ़ने से फायदा होगा

नई दिल्ली। ओपेक देशों की ओर से 30 नवंबर को क्रूड प्रोडक्शन कटौती पर सहमति बनने के बाद से ही क्रूड की कीमतों में तेजी देखने को मिल रही है। अब नॉन ओपेक देश भी क्रूड प्रोडक्शन में कटौती करने पर राजी हो गए हैं। इससे क्रूड कीमतों में आगे और तेजी देखने को मिलेगी। एक्सपर्ट्स मान रहे हैं कि क्रूड 58 डॉलर प्रति बैरल के स्तर तक पहुंच सकता है। इसका असर देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के रूप में दिखाई दे सकता है। एविएशन कंपनियां भी किराए में 5 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर सकती हैं। हालांकि इंडियन ऑयल और भारत पेट्रोलियम को रिफाइनिंग मार्जिन बढ़ने से फायदा होगा।

कहां तक जा सकती हैं कू्ड की कीमतें?
एनर्जी एक्सपर्ट नरेंद्र तनेजा ने बताया कि ओपेक और नॉन ओपेक देशों में प्रोडक्शन कम करने पर सहमति जताने से क्रूड की कीमतें संभलेंगी। लेकिन, दूसरी ओर अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति ट्रंप ने ऐसा कैबिनेट बनाने का फैसला किया है, जिससे वहां क्रूड का प्रोडक्शन बढ़ाया जा सके। प्रोडक्शन बढ़ने पर क्रूड की सप्लाई भी बढ़ेगी। ऐसा होने पर क्रूड की कीमतें 60 डॉलर प्रति बैरल तक नहीं पहुंच पाएंगी, जैसा कि कुछ एक्सपर्ट अनुमान लगा रहे हैं। तनेजा के अनुसार, अागे क्रूड 58 यूएस डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है। हालांकि, अगले कुछ महीनों तक यह 46 से 58 यूएस डॉलर के बीच रहेगा। फिलहाल अभी कुछ दिनों तक क्रूड में तेजी आएगी।

क्या कहते हैं मार्केट एक्सपर्ट
मायस्टॉकरिसर्च के हेड लोकेश उप्पल ने बताया कि क्रूड की कीमतें बढ़ने से सीधे तौर पर वे कंपनियां प्रभावित होंगी, जो प्रोडक्शन के लिए इसपर निर्भर हैं। पेट्रो प्रोडक्ट्स की कीमतें जहां बढ़ेंगी, वहीं एविएशन कंपनियां भी किराए में कुछ बढ़ोतरी कर सकती हैं। दूसरी ओर, एक्‍सप्‍लोरेशन कंपनियों जैसेकि ओएनजीसी, केयर्न इंडिया और ऑयल इंडिया को इससे फायदा होगा।

एविएशन कंपनियां 5 फीसदी बढ़ा सकती हैं किराया
लोकेश उप्पल का कहना है कि क्रूड की कीमतों में और उछाल आने से जेट एयरवेज और स्पाइजेट जैसी कंपनियां 5 फीसदी तक किराया बढ़ा सकती हैं। क्रूड महंगा होने से इन्हें महंगा एटीएफ उपलब्ध होगा। एयरलाइंंस कंपनियों की कुल लागत में एटीएफ का हिस्सा 45-48 फीसदी तक होता है।