• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   गुजरात लायंस के कप्तान सुरेश रैना ने IPL मैच में मुंबई इंडियंस के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला
    •   उत्तराखंड के नागथात में एक कार दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में पांच लोगों की मौत।
    •   विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स को पुणे सुपरजायंट ने हराया। इस हार के साथ ही आईपीएल से बाहर हुई रॉयल चैलेंजर
    •   वाराणसी के पेट्रोल पंपों पर विधिक माप विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने सक्रियता दिखाते हुए छापेमारी की।
    •   मुजफ्फरनगर: शादी समारोह में हर्ष फायरिंग। गोली लगने से 12 वर्षीय किशोर की मौत।
    •   2018 तक करीब 15 लाख वीवीपीएटी (वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें तैयार हो जाएंगी: मुख्य चुनाव आयुक्त
    •   लखनऊ: पेट्रोल पंप से तेल चोरी के मास्टरमाइंड राजेन्द्र को आठ दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया।
    •   गोरखपुर प्रेस क्लब में सीएम योगी आदित्यनाथ ने मीडिया की तारीफ की।
    •   आईआईटी के बाद दिल्ली युनिवर्सिटी ने छात्राओं से 'ठीक कपड़े' पहनने को कहा
    •   AIADMK चुनाव चिह्न मामले में दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच टीटीवी दिनकरन को पूछताछ के लिए वापस दिल्ली लाई।
    •   लखनऊ पुलिस को मिली पेट्रोल पंप से तेल चोरी के मास्टरमाइंड राजेन्द्र की 8 दिन की कस्टडी रिमांड
    •   मप्र में 10-12वी बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट 12 मई को होंगे घोषित।
    •   मुंबई के पास AIS महिला ऑफिसर को बंधक बनाकर बदसलूकी की गई
    •   मधुर भंडारकर पर रेप का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस को 3 साल की सजा, मधुर के मर्डर की थी प्लानिंग
    •   बिहार में 'बाहुबली 2 का जबरदस्‍त क्रेज, रविवार तक सिनेमाघर हाउसफुल
    •   UP: पेट्रोप पंप चिप कांड में STF ने 23 को पकड़ा, 7 पंपों को किया सील
    •   लिखा हुआ या बदरंग नोट नहीं लिया तो बैंक कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई
    •   AAP के मोहल्ला क्लीनिक में पानी का कनेक्शन तक नहीं, डॉक्टर-मरीज परेशान
    •   CM बनने के बाद योगी का आज गोरखपुर में दूसरा दौरा, 10 से ज्यादा प्रोजेक्ट्स का करेंगे शिलान्यास
    •   दिल्ली एयरपोर्ट पर 'ISI एजेंट' का अजीबोगरीब सरेंडर, काउंटर पर आकर किया खुलासा

झारखण्ड: दिल्ली ही देश है इस भ्रम से बाहर आना चाहिए- PM मोदी

img
झारखण्ड: दिल्ली ही देश है इस भ्रम से बाहर आना चाहिए- PM मोदी Ghamansan Editor

2019तक देश के सभी गांवों को सड़कों से जोड़ दिया जाएगा

 जमशेदपुर। पंचायती राज दिवस के मौके पर जमशेदपुर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब तक अमूमन पंचायती राज दिवस का ये कार्यक्रम दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित किया जाता था जिसमें कुछ चुनिंदा प्रतिनिधि ही हिस्सा लेने पहुंच पाते थे। अब तक यही परंपरा चली आ रहा थी, लेकिन दिल्ली ही देश है इस भ्रम से अब बाहर आना होगा।

उन्होने कहा कि भारत सरकार को दिल्ली से बाहर निकालकर देश के अलग-अलग हिस्सों में ले जाया जाए। इसीलिए, दिल्ली से बाहर कार्यक्रम अलग-अलग हिस्सों में किए जाए। मोदी ने कहा कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं अभियानी की शुरूआत हरियाणा से शुरू हुआ जबकि बिरसा की धरती से गांव के लोगों से संवाद कर रहे हैं।
पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज गांवों और शहरों के बीच की खाई काफी बढ़ती जा रही है। उन्होंने लोगों से सवाल करते हुए कहा कि जब बिजली शहर को मिल रही है तो गांवों को मिलनी चाहिए या नहीं। शहरों में अच्छी सड़कें है तो गांवों में चलने लायक सड़कें होनी चाहिए या नहीं।

इससे पहले, कार्यक्रम में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राजमंत्री बीरेन्द्र सिंह ने कहा कि देश की पंचायतों को असली शक्ति प्रदान करना ही मोदी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है और गांवों के विकास के लिए वे सारे कार्य किए जाएंगे जो अभी तक नहीं किए गए हैं। 2019तक देश के सभी गांवों को सड़कों से जोड़ दिया जाएगा।

यहां आयोजित राष्ट्रीय पंचायत दिवस कार्यक्रम में स्वागत भाषण करते हुए उन्होंने पंचायतों को मजबूत करने का आह्वान किया। मध्यप्रदेश से आए युवा संजीव से लेकर गुजरात के वृद्ध सरपंच डाहया भाई इसे एक अजूबा प्रयोग मानते है। कहते हैं-गांधीजी ने पंचायत के जरिए सशक्त गांव का सपना देखा था। संयोग है कि उसी भूमि के नरेंद्र मोदी उनकी कल्पनाओं को धरातल पर उतारने में लगे हैं। ग्राम उदय का महत्व तब और बढ़ जाता है जब शहरों पर आबादी का दबाव तेजी से बढ़ रहा है।

पंचायत प्रतिनिधि सम्मेलन में मोदी का जोर गरीबी उन्मूलन, शिक्षा, बच्चों के स्वास्थ्य और टीकाकरण पर होगा। पिछले वर्ष नई दिल्ली में आयोजित पंचायती राज दिवस के कार्यक्रम में मोदी ने कहा था-अगर एक गांव में हर साल पांच लोगों को गरीबी रेखा की सूची से बाहर निकालने की कोशिश पंचायत प्रतिनिधि करें तो देश की सूरत बदल जाएगी। पंचायतें स्कूल से बच्चों का ड्राप आऊट रोकने और टीकाकरण कार्यक्रम को सफल बनाने की दिशा में प्रयास करें तो इसके बेहतर परिणाम होंगे।

किसानों की राह सुगम करेगा सिंगल विंडो सिस्टम
पंचायती राज माडल में मोदी उन बिंदुओं पर भी जोर डालेंगे जो महिलाओं की भागीदारी में बाधक साबित हो रही हैं। महिला सरपंच के पति खुद को एसपी यानी सरपंच पति और महिला मुखिया के पति एमपी (मुखिया पति) बताकर बैठकों में शिरकत करते हैं। इस मनोवृत्ति से उबरने का टिप्स भी पंचायती राज माडल का हिस्सा होगा ताकि महिला प्रतिनिधि अपने कामकाज और जिम्मेदारी का स्वयं बेझिझक निर्वहन करें और सक्रिय भागीदारी निभा सकें। गांवों में सामाजिक समरसता बनाए रखने पर प्रधानमंत्री का खासा जोर होगा।

Posts Carousel