• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   गुजरात लायंस के कप्तान सुरेश रैना ने IPL मैच में मुंबई इंडियंस के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला
    •   उत्तराखंड के नागथात में एक कार दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में पांच लोगों की मौत।
    •   विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स को पुणे सुपरजायंट ने हराया। इस हार के साथ ही आईपीएल से बाहर हुई रॉयल चैलेंजर
    •   वाराणसी के पेट्रोल पंपों पर विधिक माप विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने सक्रियता दिखाते हुए छापेमारी की।
    •   मुजफ्फरनगर: शादी समारोह में हर्ष फायरिंग। गोली लगने से 12 वर्षीय किशोर की मौत।
    •   2018 तक करीब 15 लाख वीवीपीएटी (वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें तैयार हो जाएंगी: मुख्य चुनाव आयुक्त
    •   लखनऊ: पेट्रोल पंप से तेल चोरी के मास्टरमाइंड राजेन्द्र को आठ दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया।
    •   गोरखपुर प्रेस क्लब में सीएम योगी आदित्यनाथ ने मीडिया की तारीफ की।
    •   आईआईटी के बाद दिल्ली युनिवर्सिटी ने छात्राओं से 'ठीक कपड़े' पहनने को कहा
    •   AIADMK चुनाव चिह्न मामले में दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच टीटीवी दिनकरन को पूछताछ के लिए वापस दिल्ली लाई।
    •   लखनऊ पुलिस को मिली पेट्रोल पंप से तेल चोरी के मास्टरमाइंड राजेन्द्र की 8 दिन की कस्टडी रिमांड
    •   मप्र में 10-12वी बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट 12 मई को होंगे घोषित।
    •   मुंबई के पास AIS महिला ऑफिसर को बंधक बनाकर बदसलूकी की गई
    •   मधुर भंडारकर पर रेप का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस को 3 साल की सजा, मधुर के मर्डर की थी प्लानिंग
    •   बिहार में 'बाहुबली 2 का जबरदस्‍त क्रेज, रविवार तक सिनेमाघर हाउसफुल
    •   UP: पेट्रोप पंप चिप कांड में STF ने 23 को पकड़ा, 7 पंपों को किया सील
    •   लिखा हुआ या बदरंग नोट नहीं लिया तो बैंक कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई
    •   AAP के मोहल्ला क्लीनिक में पानी का कनेक्शन तक नहीं, डॉक्टर-मरीज परेशान
    •   CM बनने के बाद योगी का आज गोरखपुर में दूसरा दौरा, 10 से ज्यादा प्रोजेक्ट्स का करेंगे शिलान्यास
    •   दिल्ली एयरपोर्ट पर 'ISI एजेंट' का अजीबोगरीब सरेंडर, काउंटर पर आकर किया खुलासा

ऐसे दें बच्चों की शिक्षा पर ध्यान

img
ऐसे दें बच्चों की शिक्षा पर ध्यान Ghamansan Editor

दूसरों की बातें ध्यान से सुनने और बोलकर अपनी बात पेश करने के लिए प्रोत्साहित करें

जब आप अपने बच्चे को स्कूल में दाखिल करवाते हैं, तो आपका मुख्य उद्देश्य यह होता है की आपका बच्चा हर वो ज्ञान प्राप्त करे जो उसके आगे बढ़ने और सफल जीवन के लिए जरूरी है और जो उसमें आत्मविश्वास पैदा करे। 5 से12 वर्ष के बच्चों के लिए स्कूल में कई शिक्षण गतिविधियाँ होतीं हैं। इन सभी गतिविधियों का उद्देश्य आपके बच्चे की शैक्षिक कौशलता और व्यक्तित्व विकास  कराना होता  है। शिक्षा, अकादमिक सफलता के लिए महत्वपूर्ण है लेकिन इतना ध्यान रखना चाहिए कि स्कूली शिक्षा बच्‍चे को हर तरह से योग्य एवं परिपूर्ण बनाने वाली होनी चाहिए। बच्चों पर कोई भी गतिविधि या काम लादना नहीं चाहिए बल्कि उनसे ये सब काम, बिना कोई दवाब दिए, आराम से करवाना चाहिए।


गणित की समस्याएं हल करना, किताबें पढ़ना, लिखना, बोलना इत्यादि बच्चों के लिए कुछ महत्वपूर्ण शिक्षण गतिविधियां होतीं हैं जिनमें उन्हें कुशलता प्राप्त करनी होती है। अगर आपका बच्चा एक अच्छा श्रोता है यानि की दूसरों की बातें ध्यान से सुनता है एवं अपने विचार या अपनी बात दूसरों के सामने बोलकर पेश कर सकता है तो स्कूल में वह सफलता पा सकता है।  इसलिए उसे दूसरों की बातें ध्यान से सुनने और बोलकर अपनी बात पेश करने के लिए प्रोत्साहित करें। उसे कोई भी बात रटने के लिए प्रोत्साहित न करें। स्कूल भेजने का आपका मकसद ये है की आपका बच्चा सभी विषयों को अच्छी तरह से समझ कर ज्ञान प्राप्त करे जो उसके भविष्य में काम आए।


आप अपने बच्चों में हर विषय के प्रति रुचि जगाएं। जिन विषयों में उसकी जितनी ज्यादा रुचि होगी, उसे पढ़ने और समझने में उसका उतना हीं मन लगेगा। बच्चे के माता-पिता या अभिभावक होने के नाते आप खुद ऐसी रणनीति बनाएं जिससे कि आपके बच्चों में उन विषयों को पढ़ने और याद करने की रुचि उत्पन्न हो। आप अपने बच्चे को सिर्फ किताबी ज्ञान या अक्षरों का ज्ञान न दें बल्कि उसे पढ़ाते हुए कुछ ऐसा ज्ञान दें जिससे उस विषय में उसकी रुचि बरक़रार रहे  एवं जो उसे आगे जाकर फायदा पहुंचाए।

Posts Carousel