नई दिल्ली : पंजाब नेशनल बैंक ‘पीएनबी’ में हुए हालिया घोटाले से सबक लेते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ‘आरबीआई’ ने एक बड़ा फैसला किया है। बैंकिंग क्षेत्र के नियामक रिजर्व बैंक ने तय किया है कि अब देश के सभी बैंक आयात के लिए कंपनियों को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग ‘एलओयू’ जारी नहीं कर सकेंगे।

 जबकि रिजर्व बैंक द्वारा मंगलवार को जारी एक अधिसूचना के मुताबिक, आयात के लिए ट्रेड क्रेडिट के तौर पर कोई भी वाणिज्यिक बैंक एलओयू और एलओसी जारी नहीं कर पाएगा। जबकि इस सुविधा को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है।
हालंकि माना जा रहा है कि पीएनबी को नीरव मोदी और मेहुल चोकसी द्वारा एलओयू के नाम पर चूना लगाने की घटना से सबक लेते हुए रिजर्व बैंक ने यह फैसला किया है।

LEAVE A REPLY