मुस्लिम समाज खुद लगाए बुर्के पर बैन – प्रज्ञा ठाकुर | Pragya Thakur sought support for the ban on ‘Burqa’

0
29
pragya thakur

देशभर में चल रहे लोकसभा चुनाव के दौरान सियासी बाजी के बीच अब बुर्के पर बैन को लेकर राजनीति गरमा गई है। दरअसल शिवसेना ने बुधवार को श्रीलंका की तर्ज पर बुर्के पर बैन की मांग की थी।

इसी कड़ी में अब भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने इस मामले में एक बड़ा बयान दिया हैं। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि अगर देश की सुरक्षा को लेकर बुर्के पर प्रतिबंध जरूरी है तो इस पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।

प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि एयरपोर्ट पर बुर्का पहने वाली औरतों को सुरक्षा कारणों से अपना बुर्का हटाना पड़ता है क्योंकि यह देशकी सुरक्षा से जुड़ा है। उन्होने कहा कि लोकतंत्र में निर्णय देश हित में लेना चाहिए। सरकार के बजाय खुद मुस्लिम समाज को बुर्के पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लेना चाहिए।

गौरतलब है कि श्रीलंका में बीते दिनों हुए आतंकी हमले के बाद वहां की सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर बुर्के पर प्रतिबंध लगा दिया है इसके बाद शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना और दोपहर का सामना में लिखे गए संपादकीय में भारत में भी बुर्के पर प्रतिबंध की बात की थी।

शिवसेना ने अपने पत्र में कहा था कि ‘इस प्रतिबंध की अनुशंसा आपातकालीन उपाय के तौर पर की गई है जिससे कि सुरक्षाबलों को किसी को पहचान आने में परेशानी ना हो। नकाब या बुर्का पहने हुए लोग राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा हो सकते हैं।’

वहीं बुर्के को लेकर चल रही सियासत के बीच एनडीए भी दो भागों में बंट गई है। मोदी सरकार में मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख और रामदास अठावले ने कहा कि ‘बुर्का पहने वाली सभी महिलाएं आतंकवादी नहीं है। अगर कोई आतंकवादी है तो उसका बुर्का उतारा जाना चाहिए। यह एक परंपरा है उन्हें बुर्का पहनने का अधिकार है। देश में बुर्का पर नहीं लगना चाहिए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here