इस्लामाबाद : आख़िरकार भारत और अमेरिका का दबाव काम आया और पाकिस्तान ने मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज़ सईद को बड़ा झटका देते हुए उसके संगठन जमात-उद-दावा को आतंकी संगठन घोषित कर दिया है. पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) द्वारा प्रतिबंधित व्यक्तियों और लश्कर-ए-तैयबा, अल-कायदा तथा तालिबान जैसे संगठनों पर लगाम लगाने वाले अध्यादेश पर हस्ताक्षर कर दिए है.Image result for Mamnoon Hussainराष्ट्रपति ममनून के हस्ताक्षर के बाद जमात उद दावा घोषित तौर पर आतंकी संगठन की सूची में शामिल हो गया. हालांकि यह भी देखने वाली बात होगी कि यह अध्यादेश कानून का रूप ले पाता है या फिर नहीं. क्योंकि समय सीमा खत्म होने तक अगर यह यह अध्यादेश कानून का रूप नहीं लेता है तो फिर जमात-उद-दावा पर से प्रतिबंध अपने आप हट जाएगा.Image result for jamat ud dawahबता दे कि इस अध्यादेश पर हस्ताक्षर होने के बाद अब अधिकारियों को प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और उनके कार्यालयों तथा बैंक खातों को सील करने का अधिकार मिल गया है. बता दे कि यूएनएससी की प्रतिबंधित सूची में अल-कायदा, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान, लश्कर-ए-झांगवी, जमात-उद-दावा, फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ), लश्कर-ए-तैयबा और अन्य शामिल हैं.

गौरतलब है कि भारत और अमेरिका लगातार पाकिस्तान पर आतंकी संगठनों पर कार्यवाई करने के लिए दबाव बना रहा है.