नई दिल्ली: लालू यादव और उनके परिवार की मुसीबत कम होने का नाम ही नहीं ले रही. अभी चारा घोटाला प्रकरण ख़त्म हुआ भी नहीं था कि अब चुनाव आयोग ने उन्हें चेतावनी दे डाली. दरअसल चुनाव आयोग ने राष्ट्रीय जनता दल को एक नोटिस भेज कर सवाल पूछा है क्यों न पार्टी पर चुनाव चिन्ह से जुड़े कानून के तहत कार्रवाई की जाए. बता दें लालू प्रसाद यादव कि पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने वित्तीय वर्ष 2014-15 के आयकर की जानकारी भी आयोग को नहीं दी है. इसके लिए आयोग राष्ट्रीय जनता दल को रिमाइंडर पहले ही भर चुकी है. फिलहाल आयोग ने लालू यादव की पार्टी को जवाब देने के लिए 20 दिन का वक्त दिया है.

via
via

राष्ट्रीय जनता दल के साथ-साथ मेघालय की राज्य पार्टी यूनाइटेड डेमेक्रेटिक पार्टी को भी आयोग ने ऐसा ही नोटिस भेजा. इन दोनों पार्टी पर आयोग ने 1968 के इलेक्शन सिम्बल एक्ट के पैरा 16ए के तहत कार्रवाई करने कि चेतवानी देते हुए नोटिस जारी किया जिसके अंतर्गत पार्टी का चुनाव चिन्ह जब्त किया जा सकता है. राष्ट्रीय जनता दल का चुनाव चिन्ह लालटेन है अतः लालू यादव का चुनाव चिन्ह जब्त हो सकते हैं. अब देखना यह होगा राष्ट्रीय जनता दल आयोग को क्या जवाब देती है.

via
via

बता दें देश कि तमाम राजनितिक पार्टी को वित्तीय वर्ष के आयकर रिटर्न की जानकारी उस साल के अक्टूबर की 31 तारीख तक देनी होती है. नोटिस से इस बात का आंकलन किया जा सकता है कि 31 अक्टूबर 2015 तक इंकम टैक्स रिटर्न की जानकारी दे देनी चाहिये थी लेकिन अब तक यह जानकारी आयोग को नहीं दी गयी. वैसे कांग्रेस बीजेपी जैसी पार्टियां भी आयकर रिटर्न भरने में कुछ महीनों की देरी करती हैं जिसे लेकर चुनाव सुधार से जुड़े कार्यकर्ता सवाल उठाते रहे हैं.