मुंबई। बाजार पूंजीकरण के हिसाब से पहली बार देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक को कोटक महिंद्रा बैंक ने पछाड़ दिया है। केएमबी ने एसबीआई को पूंजीकरण के हिसाब से पहली बार पटखनी दी है।

सोमवार को कोटक महिंद्रा बैंक का मार्केट कैपिटलाइजेशन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से ज्यादा हो गया है। इस हिसाब से बाजार पूंजीकरण के लिहाज से केएमबी देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है।

डिपॉजिटर्स बढ़े
कोटक का शेयर पिछले सालभर में 33 प्रतिशत उछाल आया है, वहीं इसी एसबीआई का शेयर पंद्रह फीसदी गिरा है। जबकि एचडीएफसी बैंक और इंडसइंड बैंक तीस-तीस फीसदी बढ़त बनाने में सफल रहे।  दिसंबर 2017 के अंत में कोटक महिंद्रा के पास एक करोड़ दो लाख जमाकर्ता ग्राहक थे। यह आंकड़ा पिछले वर्ष मार्च की तुलना में 50 प्रतिशत ग्रोथ दर्शा रहा है। उम्मीद जताई जा रही है कि तिमाही में भी इसका बेहतर प्रदर्शन करेगा।

जानिए किसकी कितनी मार्केट वैल्यू
कोटक महिंद्रा बैंक – 2.२३ लाख करोड़ रुपए
एसबीआई 2.२२ लाख करोड़ रुपए
एचडीएफसी बैंक 5.03 लाख करोड़ रुपए

प्राइवेट बैंकों का बोलबाला
राष्ट्रीयकृत बैंकों में डूबता कर्ज (एनपीए) को लेकर सरकार और रिजर्व बैंक kotak 2भी चिंतित है वहीं निजी बैंकों का शुरू से ही ध्यान रिटेल बिजनेस पर रहा है और इसमें वे शुरू से ही अग्रणी बने हुए हैं।