धर्मेंद्र फंसे परेशानी में अपने बेटे का साथ दें या फिर दोस्त के बेटे का

0
49
dharmendra

फिल्म स्टार धर्मेंद्र के बारे में बहुत कम लोगों को यह पता है कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलराम जाखड़ उनके बहुत अच्छे दोस्त थे और यह दोस्ती इतनी अच्छी थी की 2004 में बलराम जाखड़ को कांग्रेस में चुरू से लोकसभा का टिकट दिया और भारतीय जनता पार्टी ने यहां पर धर्मेंद्र को मैदान में उतारने की कोशिश की लेकिन धर्मेंद्र ने यह कहते हुए इंकार कर दिया कि वे अपने दोस्त के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ेंगे वे उनके बड़े भाई भी हैं|

समय ने करवट ली और धीरे-धीरे नौबत यह आ गई कि बलराम जाखड़ के बेटे सुनील जाखड़ को कांग्रेस ने गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव के लिए अपना उम्मीदवार बना दिया|

भारतीय जनता पार्टी ने भी धर्मेंद्र के बेटे सनी देओल को यहीं से टिकट दे दिया सनी देओल कोई धर्मेंद्र तो थे नहीं जो सुनील जाखड़ के सामने चुनाव लड़ने से इंकार कर देते वैसे भी धर्मेंद्र की दोस्ती बलराम जाखड़ के साथ थी जो अब सुनील और सनी के बीच नहीं है ऐसी स्थिति में धर्मेंद्र के लिए सबसे बड़ी परेशानी यह खड़ी हो गई है कि अगर वह अपने बेटे सनी के प्रचार के लिए जाते हैं तो फिर उन्हें अपने बड़े भाई और दोस्त के बेटे सुनील जाखड़ के खिलाफ कुछ ना कुछ तो बोलना ही पड़ेगा अब देखने वाली बात यही होगी कि धर्मेंद्र इस परेशानी का सामना कैसे करते हैं|

Raed more : पर्चा भरने के मामले में संघवी से आगे लालवानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here