नई दिल्ली : भारत और साउथ अफ्रीका के बीच शनिवार को जोहान्सबर्ग में खेले गए चौथे वनडे में भारत को मेजबान टीम से हार का सामना करना पड़ा। भारत ने शिखर धवन के 13वें शतक और कोहली के 75 रन की बदौलत 50 ओवर में 7 विकेट पर 289 रन बनाए।

जबकि इसके बाद वर्षा प्रभावित इस मैच में जीत के लिए डकवर्थ लुइस नियम के हिसाब से जीत के लिए दक्षिण अफ्रीका को 28 ओवरों में 202 रन का लक्ष्य मिला। जबकि भारतीय गेंदबाज युजवेंद्र चहल से सभी को काफी उम्मीदें थीं लेकिन एक नो बॉल ने उन्हें मैच का विलेन बना दिया।

हालाँकि चहल जिस समय गेंदबाजी कर रहे थे उनके सामने डेविड मिलर और हेनरिच क्लासेन खेल रहे थे। चहल की गेंद पर श्रेयस अय्यर ने पहले डेविड मिलर का कैच छोड़ा। उसके कुछ देर बाद चहल की नो बॉल पर मिलर क्लीन बोल्ड हो गए। चहल की ये नो बॉल भारत को कितनी भारी पड़ी इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि मिलर ने इसके बाद क्लासन के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी करते हुए मैच भारत से छीन लिया।