नई दिल्ली : दक्षिणी चीन सागर पर ब्रिटेन का बयान रास नहीं आ रहा है। ब्रिटिश रक्षा सचिव गेविन विलियमसन ने मंगलवार को कहा कि एक ब्रिटिश युद्धपोत अगले महीने से दक्षिणी चीन सागर में संचालित होगा।

ब्रिटेन के इस बयान के बाद भड़के चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने बीजिंग में  कहा कि ‘अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुसार सभी देशों ने दक्षिण चीन सागर में नेविगेशन और अतिप्रवाह की स्वतंत्रता का लाभ उठाया है।’ ब्रिटिश अधिकारियों ने 6 महीने पहले भी एक युद्धपोत इस इलाके में संचालित किया था जिसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया था।

ब्रुनेई, मलेशिया, फिलीपींस, ताइवान और वियतनाम ने भी ऊर्जा संपन्न इस समुद्री क्षेत्र पर अपना दावा किया है जहां के माध्यम से अरबों डॉलर का व्यापार होता है।

LEAVE A REPLY