गर्मियों का मौसम आते ही मन अपने आप ही मामा के घर कि ओर चल पड़ता है. हालांकि अब काम का बोझ इस चीज कि इजाज़त नहीं देता और बढ़ते वैज्ञानिकी आविष्कारों ने गाँव कि हर याद को मिट्टी में दबा दिया. मगर आज भी जब बोतल पर बोतल पानी पिने के बाद भी प्यास नहीं मिटती तो मटके के पानी की याद आ ही जाती है. गर्मी के मौसम में पानी काफी उपयोगी होता है, इस मौसम में सबसे ज़्यादा गला सूखता है. लिहाजा ठंडा पानी मन को सुकून से भर देता है. आइये जानते हैं मटके का पानी फ्रिज के पानी की तुलना में किस तरह लाभकारी होता है.

via
via

मटके के पानी और फ्रिज के पानी में सबसे बड़ा अंतर यह होता है कि मटके का पानी प्राकृतिक रूप से ठंडा होता है और फ्रिज का पानी इलेक्ट्रॉनिक की सहायता से ठंडा होता है. अब प्राकृतिक रूप से मटका पानी को ठंडा करेगा तो लिहाजा आपके घर कि बिजली कि बचत होगी.

via
via

वहीं इसमें मृदा सबंधित कई गुण भी होते हैं जो पानी में उपस्थित अशुद्धियों को दूर कर हमें लाभकारी मिनलरल्स प्रदान करती है. वहीँ शरीर में उपस्थित विषैले पदार्थ को दूर परके यह आपके शरीर में रोग प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

via
via

अगर फ्रिज के पानी से मटके के पानी कि तुलना की जाए तो मटके का पानी इसलिए भी फायदेमंद है क्योंकि इससे कब्ज गला ख़राब होने जैसी परेशानी नहीं होती. इसके साथ-साथ मटके का पानी सही मायने में शरीर को ठंडक प्रदान भी करता है.

via
via

मटके का पानी पीना सेहत के लिए इसलिए भी फायदेमंद होता है क्योंकि इसका तापमान सामान्य से थोड़ा सा कम होता है. जो ठंडक देने का काम तो करता ही है मगर इसके साथ-साथ पाचन क्रिया को मजबूत करने में भी यह सहायक होती है. अतः तुलनात्मक अध्यन से यह बात साफ़ हो गयी है कि फ्रिज के पानी की तुलना में मटके का पानी काफी फायदेमंद है.

thumbnail resource