गर्भावस्था किसी भी लड़की के जीवन का सबसे सुहाना पल होता है। इसमें कई परिवर्तन आते हैं, दरअसल इस दौरान हॉर्मोन भी निरंतर परिवर्तित होते रहते हैं जिसके चेहरे पर एक अलग ही तरह का निखार आ जाता है। मगर इस दौरान स्त्रियों की त्वचा पहले की तुलना में और अधिक संवेदन शील हो जाती है। और यही कारण है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को त्वचा सबंधित कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन परेशानियों के कई प्रकार हो सकते हैं जैसे – स्ट्रेच माक्र्स, खुजली, मुंहासे, पिग्मेंटेशन और प्रसव के बाद त्वचा का ढीला पड़ जाना। ऐसे में आज हम आपको बताने वाले हैं गर्भावस्था में त्वचा की देखभाल कैसे करे।

स्ट्रेच माक्र्स

via

via

हालांकि अभी मेडिकल साइंस में ऐसा कोई उपाय बना नहीं है जिससे स्ट्रेच माक्र्स हमेशा के लिए हट जाएं। मगर इसके बाद भी मॉयस्चराइजर या विटमिन ई युक्त क्रीम लगाकर इन्हें काफी हद तक कम करने की कोशिश की जा सकती है, क्योंकि यह क्रीम त्वचा में नमी बनाए रखते हैं।

मुंहासे

via

via

गर्भावस्था में सबसे ज़्यादा परेशान करते हैं मुंहासें। वहीं कई स्त्रियों को दाग की भी परेशानी होती है। अगर मेडिकल भाषा में इसे समझने की कोशिश करें प्रोजेस्ट्रॉन और एस्ट्रोजन का स्त्राव शरीर में अत्यधिक मात्रा में बढ़ जाता है इसके कारण सीबम का उत्पादन भी बढ़ जाता है। यही वजह रहती है कि यह रोमछिद्र बंद कर देता है। इनके उपचार के लिए कोई दवाई न खाएं बिना डॉक्टर की सलाह लिए घर पर ही कोई उपचार भी न करें।

खुजली

via

via