????????????????????????????????????

अहमदाबाद:पर्यावरणीय स्थिरता के प्रति अपनी वचन बद्धता कोनिर्मित करने के लिए देश के सबसे बडे खाद्य तेल विक्रेता अडानीविलमार लिमिटेडने आज यह घोषणा की खाद्य तेल की अपनी पैकिंग को पूरी तरह से रिसाइक लेबल बनाने के लिए वित्तवर्ष 2018-19 की  पहली तिमाही से कंपनी धीरे धीरे पैकिंग में बदलाव करेगी।

सबसे तेजी से बढ रही भारतीय फुड एफएमसीजी कंपनी अब इस योजना के अंतर्गत लम्बे समय तक चलने वाले पूरी तरह से नए पीईलेमिनेटसाल्युशन तैयार करने के लिए अपने समर्पित सप्लायर विशाखापोलीफेब प्राइवेट लिमिटेड (वीपीपीएल) से पोलीथीलिन (पीई) रेसिन के अनोखे फार्मुलेशन से बनी प्लास्टिक फिल्म्स खरीदेगी।

अडानीविलमार के पासवीपीपीएल के साथ किया गया 9 माह का विशेष अनुबंध भी है इस अवधि के दौरान उसके पास सम्पूर्ण आइलइंडस्ट्री में इनोवेटिव पैकिंग का उपयोग तथा मार्केटिंग करने का ‘सोल यूसेजराइटस‘ हो।

इस बारे में अडानी विलमार के सीओओअंग्शुमल्लिक ने कहा कि ‘‘एनवायर मेंटल ससटेनाबिलिटी का कडाई से पालन करने के लिए अडानी विलमार एक कदम और आगे बढायाहै।आइल इंडस्ट्री में पहली बार खाद्यतेल की इस नई पैकिंग को आरंभ फारचून ब्राण्ड के 1 लीटर वाले पैकमें पेश किया जाएगा , उसके बाद हमारे दूसरे ब्राण्ड में भी इस नई पैकिंग वाले पाउच को प्रस्तुत किया जाएगां कंपनी हर साल लगभग 47 करोडपाउच /लीटर पैकबा जार में पेश करती है।

इस समय अडानीविलमार पैकिंग के लिए प्रति माह लगभग 300 मैट्रिक टन प्लास्टिक फिल्म्स की खरीदी करता हैऔर एक किलोग्रामफिल्म सेलगभग 130 पाउच बनते हैं।पोलीथीलिन (पीई) रेसिन के अनोखे फामुर्लेशन को भारत सरकार के डिपार्टमेंट आफ केमिकल्स एण्ड प्लास्टिक इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोला जी रसायन तथा पैट्रोकेमिकल विभाग की एजेंसी सेंट्रलइंस्टिटयूट आफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलालजी (सीआईपीईटी) द्वारा पहले ही प्रमाणित किया जा चुकाहै।

एण्डोर्स मेंटसर्टिफिकेट में  कहा गया है कि को-एक्सट्रुडेड मल्टीलेयर फिल्म को रिसाइकल किया जा सकेगा।रिसाइकिल किए जा सकने वाले नए पाउच ने कंपनी के आंतरिक लेबोरेट रीटेस्ट के अंतर्गत किए गए ड्रापटेस्ट तथा इंक एड हेसन टेस्टवाले ड्राटइम्पेक्ट टेस्ट को भी पास कर लिया है।

अडानी विलमार  के पोर्टफोलियोमें, सोयाबीन,सूरजमुखी, राइस ब्रान तथा मूंगफली कपास का तेल शामिलहै।फारच्यून के अलावा कंपनी के अन्य ब्राण्ड आधार, किंग्स, फ्रायोला, राग गोल्ड तथा अल्फाने भी हेल्दी मार्केट शेयर बना लियाहै। खाद्यतेल के प्रत्येक पाउच में अंतर्राष्ट्रीय रिसाइक्लिंग प्रतीक को प्रकट करने के लिए सामने की तरफ कव्र्ड तथा फोल्डेड एरोज से बना एक प्रामिनेंट त्रिकोण बडे आकार में मुद्रित होगा।

अडानीविलमार ने पूरी दुनिया में 19 देशों को निर्यात कर विश्व बाजार में भीअपनी खास पहचान बनाई है।तेल उद्योग में खाद्य तेल का नम्बर वन उत्पादक के रूप में स्थापित होने के बाद सोयान गेटस, बासमती चांवल, बेसन , दाल तथा वनस्पति जैसे उपभोक्ता अनिवार्यता को शामिल कर कंपनी पहले ही अपने पोर्ट फोलियो का विस्तार कर चुकी है।

अडानीविलमार के बारेमें: अडानीविलमार (एडब्ल्यूएल) ,प्राइवेट इंफ्रास्ट्रक्चर लीडर अडानी समूह तथा एशिया के अग्रणी कृषि व्यवसाय समूह विलमार इंटर नेशनललिमिटेड-सिंगापुर के बीच जनवरी 1999 में निगमित एक संयुक्त उद्यम है। यह भारत में तेजी से विकसित होती फुड एफएमस जी कंपनियों में से एक हैजिसका वार्षिक टर्न ओवर 3.5 बिलियनडालर से अधिक है।

आज एडब्ल्यू की स्वामित्व वाली40 से अधिक इकाईयां हैं जो जिसकी प्रगामीरि फाइनिंग क्षमता19000 टन प्रति दिन से अधिकहै। इनके द्वारा प्रतिदिन 9000 टन सीड क्रशिंगकर 12900 टन प्रतिदिन की पैकिंग क्षमता है।कंपनी के पास सोयाबीन, सनफ्लावर, सरसों,राइसब्रान, मूंगफली तथा कपास जैसे तेलों की सबसे बडी रेंज है तथा हाल हीमे इसने भारत के पहले डायबीटिज केयर तेल विवोजैसे रिवोल्युशनरी आइल को प्रस्तुत करअपने पोर्ट फोलियो का विस्तार किया है।

तेल के अतिरिक्त एडब्ल्यूएल ने पैक्ड बास मती चांचल, दालों सोया बडी तथा बेसन के पहले नेशनल ब्राण्ड को पेश किया है। अडानी विलमार के प्रोडक्ट फोलियो फारचून, किंग्स, बुलेट, राग, अवसर, पिलाफ, जुबली, फ्रायोला, अल्फा तथा आधार जैसे ब्राण्ड स्में फैले हुए है तथा हाल ही में इसने फारचून चक्की फे्रश आटा भी प्रस्तुत किया है।भारत के सभी खाद्य तेल निर्माताओं में 95 स्टाक पाइंटस 5000 वितरण नेट वर्क तथा’10 प्रतिशत रिटेलपेने ट्रेशन के साथ एडब्ल्यूएलका सबसे बडा नेटवर्क है जो पूरे भारत में करीब 1 मिलियन आउटलेटस में फैला हुआ है।फारचुन अडानी विलमार समूह का सर्वाधिक प्रतिष्ठित,उपभोक्ताओं का विश्वसनीय तथा अच्छीतरह से मार्केट किया जाने वाला ब्राण्ड है तथा भारत में प्रस्तुत किए जाने से 2 वर्ष के अंदर ही मार्केट लीडर बन  गया है।