शर्मनाक: महिला अध्यापको ने सिर मुंडवा कर जताया विरोध

0
42

भोपाल: नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि भाजपा के 14 साल की हकीकत अब उजागर होने लगी है । उन्होंने कहा कि 13 जनवरी की तीन घटनाएं मकर संक्रांति के पूर्व संध्या पर घटित होना वह शिवराज सरकार के लिए अशुभ एवं शर्मनाक होने का संकेत है। श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश का भविष्य गढ़ने वाले अध्यापकों द्वारा अपनी मांगों के समर्थन में सिर मुंडवाने विशेषकर महिलाओं द्वारा करवाना और नौकरी से निकाले जाने के बाद एक मलेरिया कार्यकर्ता द्वारा अपनी शादी के कार्ड में यह लिखा जाना की “हमारी भूल कमल का फूल।

” दूसरी ओर एकात्म यात्रा का जो कार्यक्रम मुख्यमंत्री निवास पर हुआ, उसमें पूरे शहर में जितने होर्डिंग्स लगे थे उससे कम लोग का मौजूद होना शिवराज सरकार के लिए अशुभ और बताता है कि लोग भाजपा के शासन से तंग हो चुके हैं| मुख्यमंत्री के प्रति आम जनता में खत्म होते विश्वास के बाद जनता उन्हें बाहर करे, उन्हें स्वयं पद छोड़ देना चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि स्वयंभू बने मामा शिवराज सिंह चौहान को क्या अपनी बहनों द्वारा सिर मुंडवाने की घटना से अच्छा लगा। उन्होंने कहा कि एक नारी का सबसे बड़ा श्रंगार उसके बाल होते हैं। अगर एक नारी उसे कटवाने का निर्णय ले तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि शिवराज सरकार के प्रति लोगों में कितना गुस्सा है|

 सिंह ने कहा आज अखबारों और कल जब उन्होंने टी.वी. में अध्यापकों को सिर मुंडवाते  देखा तो उन्हें बहुत दुःख हुआ। श्री सिंह ने कहा कि अपने को संवेदनशील कहने वाले मुख्यमंत्री ने अभी  तक राजधानी भोपाल में हुए अध्यापकों के इस हद तक जाने के कारणों की सुध नहीं ली। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने को कर्मचारी हितैषी कहते हैं, किसान हितैषी कहते हैं, महिला हितैषी कहते हैं और हालात यह हैं कि यह तीनों वर्ग उनके राज में बेहाल और सबसे ज्यादा दुःखी हैं और उसे या तो अपना सिर मुंडवाना पड़ रहा है या फिर वह आत्महत्या के लिए मजबूर है।

सिंह ने कहा कि दूसरी घटना सागर में एक मलेरिया वर्कर को नौकरी से निकाले जाने के बाद उसके द्वारा अपनी बहन की शादी के कार्ड में “हमारी भूल कमल का फूल” बताता है कि भाजपा के 14 साल प्रदेश के हर वर्ग के लिए असहनीय हो गए हैं।

इसी तरह एकात्म यात्रा को कितना जन समर्थन मिल रहा है यह कल राजधानी में ही मुख्यमंत्री निवास पर हुए कार्यक्रम से पता चलता है। इस कार्यक्रम में जितने लोग इकठ्टे हुए उससे ज्यादा तो शहर में होर्डिंग्स लगे हैं। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जनता ने भाजपा द्वारा राजनीतिक उद्देश्यों के लिए जनता के पैसों की बर्बादी कर धर्म के नाम पर निकाली गई इस यात्रा को नकार दिया है।