ई-वे बिल से नहीं होगी अलग-अलग मार्गो पर पास की जरुरत

E-They will not be billed with passes on different routes

0
22

नई दिल्ली : जी.एस.टी. नैटवर्क ने कहा है कि फरवरी महीने से ट्रांसपोर्टरों को एक राज्य से दूसरे राज्य में माल लाने और ले जाने के लिए अलग-अलग मार्ग परमिट ‘ट्रांजिट पास’ की जरूरत नहीं होगी, जबकि  ई-वे बिल ‘इलैक्ट्रॉनिक बिल’पूरे देश में मान्य होंगे।

हालाँकि जी.एस.टी. के तहत 50,000 रुपए से ज्यादा के माल को एक राज्य के अंदर 10 किलोमीटर से अधिक दूर या एक राज्य से दूसरे राज्य में भेजने के लिए जी.एस.टी. नैटवर्क  से इलैक्ट्रानिक परमिट ‘ई-वे बिल’ की जरूरत होगी।

जबकि जी.एस.टी.एन. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ‘सी.ई.ओ.’ प्रकाश कुमार ने कहा कि ई-वे बिल के लिए करदाताओं और ट्रांसपोर्टरों को किसी कर कार्यालय या फिर चैक पोस्ट पर जाने की जरूरत नहीं क्योंकि उसे खुद नैटवर्क  से प्राप्त कर सकते हैं। जबकि नई प्रणाली के माध्यम से पोर्टल, मोबाइल एप, संदेश तथा ऑफ लाइन उपकरण ‘टूल’ के माध्यम से ई-वे बिल हासिल करने की सुविधा होगी।