विवाह पंचमी आज, जाने क्या है महत्व

0
30

नई दिल्ली । आज मार्गशीर्ष शुक्लपक्ष कि पंचमी को भगवान राम ने माता सीता के साथ विवाह किया था। अतः इस तिथि को श्रीराम विवाहोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इसको विवाह पंचमी भी कहते हैं।

भगवान राम चेतना के प्रतीक हैं और माता सीता प्रकृति शक्ति की, अतः चेतना और प्रकृति का मिल न होने से यह दिन काफी महत्वपूर्ण हो जाता है। इस दिन भगवान् राम और माता सीता का विवाह करवाना बहुत शुभ माना जाता है। इस बार विवाह पंचमी 23 नवंबर को मनाई जाएगी आइये जानते है इसके बारे में।

अगर विवाह होने में बाधा आ रही हो तो यह समस्या दूर हो जाती है ।

Related image

मनचाहे विवाह का वरदान भी मिलता है

Image result for मनचाहे विवाह का वरदान भी मिलता है.

वैवाहिक जीवन की समस्याओं का अंत भी हो जाता है

Related image

इस दिन भगवान राम और माता सीता की संयुक्त रूप से उपासना करने से विवाह होने में आ रही बाधाओं का नाश होता है।

Image result for राम और माता सीता

इस दिन बालकाण्ड में भगवान राम और सीता जी के विवाह प्रसंग का पाठ करना शुभ होता है।

Image result for राम और सीता जी के विवाह

इस दिन सम्पूर्ण रामचरित-मानस का पाठ करने से भी पारिवारिक जीवन सुखमय होता है।