यकीन मानिए आप भी नहीं जानते होंगे लड़कियों के बूब्स से जुड़ी ये बातें

0
327

नई दिल्ली: जैसा की हम सभी जानते है की महिलाओं के चेहरे से ही उनका व्यक्तित्व को समझा जाता है लेकिन फिर भी कहा जाता है कि नारी का सौंदर्य उसकी छाती से प्रतित होता है।

तो चलिए यहां हम आपको ज्योतिष विद्या के अनुसार अलग-अलग प्रकार की स्त्रियों के बारे में बतायेंगे। यहां पर स्‍त्री की छाती के रंग, उसके उठाव एवं आकार के आधार पर उसके व्‍यक्तित्‍व का अनुमान लगया जा सकता है .
छाती का उंची व पुष्ट होना- जिस स्त्री की छाती उंची व पुष्ट हो, वह स्त्री अनेक प्रकार के सुखों को भोगने वाली होती है एंव धनधान्य व ऐश्वर्य से परिपूर्ण होती है। ऐसी स्त्रियां अपने पति को सुख देने वाली होती है। समाजिक कार्यो में भी इनकी रूचि होती है।

छाती नीची व लटकी हुई होना- यदि किसी स्त्री की छाती नीची व लटकी हुई हो, वह स्त्री जिस परिवार में जाती है वहां पर दरिद्रता आने की आशंका रहती है। ऐसी स्त्रियां अपने पति से हमेशा झगड़ा करने वाली मानी जाती है।
छाती का आकार चौड़ा होना- जिस स्त्री की छाती चैड़ी होती है, वह स्त्री साहसी, अहंकारी व क्रोधी स्वभाव वाली होती है। ये परिवार पर अपना सिक्का चलाने का प्रयास करती रहती है।

छाती का लाल रंग का होना- जिस स्त्री की छाती लाल रंग की या फिर एकदम काले रंग की होती है, वह स्त्री सुन्दर व अधिक पुत्रों को जन्म देने वाली होती है। ये सांसरिक छल-प्रपंचो से दूर रहना ही पसन्द करती है। ये अपने कार्यो के द्वारा सबको खुश रखने का प्रयास करती है।

छाती का आगे की ओर झुकी हुई होना- जिस स्त्री की छाती आगे की ओर झुकी हुई हो, वह उस स्त्री के अधिक भाई-बहन होने की सम्भावना होती है। ये स्त्रियां अपने पति की सेवा करने में तत्पर रहती है।

छाती अन्दर की ओर दबी हुई होना- यदि किसी स्त्री की छाती अन्दर की ओर दबी हुई हो, वह स्त्री कड़क स्वभाव वाली तथा रोगी होती है। ऐसी स्त्रियां धन के मामलें में काफी चालाक होती है। ये अपने करियर को लेकर काफी सजग होती है।

दोनों वक्षों का आकार समान होंना- तो अगर किसी स्‍त्री के दोनों वक्ष समान हैं तो वह प्रायः धनवान होती है। साथ ही हर काम में सकारात्‍मक सोच रखती है।

एक वक्ष का छोटा, एक का बड़ा होना-  यदि किसी स्‍त्री के दोनो में से एक स्‍तन छोटा एक बड़ा है तो वह धनहीन तथा नकारात्‍मक सोच रखती है। ऐसी स्त्रियों की मौत शस्त्र से प्रहार करने पर होती है।

स्‍तन सुडौल और टाइट होंना- यदि किसी स्‍त्री के स्‍तन सुडौल, टाइट और एक जगह स्थिर रहने वाले हों तो वह स्‍त्री बहुत मेहनती होती हैं। उनका दिमाग बहुत तेज चलता है, लेकिन शीर्ष तक जल्‍दी नहीं पहुंच पाती हैं। ये स्त्रियां अच्‍छी पत्‍नी बनती हैं।

स्तन यदि गोलाकार हों- यदि किसी स्‍त्री के स्‍तन गोलाकार हैं तो वह स्‍त्री बहुत चालाक होती है। हर तरह से अपनी बात मनवाने की कोशिश करती हैं, साथ ही रचनात्‍मक भी होती हैं।