ब्लैक स्ट्रिप वाले डेबिट-क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे हैं तो हो जाये सावधान

0
14

नई दिल्ली । आये दिन डेबिट और क्रेडिट की धोखाधड़ी मामला सामने आ रहा है ब्लैक स्ट्रिप वाले डेबिट-क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे हैं तो हो जाये सावधान इस कार्ड के चलते धोखाधड़ी के मामले ज्यादा आ रहे है इस तरह के मामले बेहद गंभीर हैं, क्योंकि पहले बैंकों द्वारा जारी किए गए ब्लैक स्ट्रिप(मैग्नेटिक पट्टी) वाले डेबिट व क्रेडिट कार्ड की क्लोनिंग करना काफी आसान है। ऐसे में फर्जी एटीएम से आपके खाते से पैसा निकाला जा सकता है।

इस कारण से बैंक द्वारा अब चिप वाले एटीएम कार्ड जारी किए जा रहे हैं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने साल 2012 में एक आदेश जारी किया था। इस आदेश के अनुसार, आरबीआई ने कहा था कि विदेश जाने वाले लोगों द्वारा चिप वाले डेबिट व क्रेडिट कार्ड प्रयोग में लाए जाएंगे। ऐसे में विदेश जाने वाले लोगों के लिए चिप वाले एटीएम कार्ड जारी किए गए। साथ ही कई देशों में ब्लैक स्ट्रिप कार्ड मान्य भी नहीं हैं।

चिप वाले एटीएम कार्ड कैसे रखें सुरक्षित
ब्लैक स्ट्रिप वाले एटीएम कार्ड के मुकाबले चिप वाले एटीएम कार्ड की क्लोनिंग करना साइबर चोर व अन्य गिरोहों के लिए काफी मुश्किल होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि चिप वाले एटीएम कार्ड को रीड करना काफी मुश्किल होता है।इस खास नए एटीएम की रीडिंग के लिए एक सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है, जो केवल बैंकों के पास हैं। ऐसे में इस कार्ड का गलत इस्तेमाल करना काफी मुश्किल है।  वहीं काली पट्टी वाले एटीएम कार्ड के रीडर बाजारों में मौजूद हैं, जिससे एटीएम की क्लोनिंग की जा सकती है।