सिंगरोली नगर निगम उपायुक्त रिश्वत लेते हुए धराये

Singroli Municipal Corporation Deputy Commissioner took bribe

0
38

नई दिल्ली : सिंगरौली नगर पालिक निगम के उपायुक्त सी पी पांडेय को आज पूर्वान्ह 11.30 बजे ठोस अवशिष्ट प्रबंधन के संविदा कार से 37 लाख रुपये के बिल भुगतान राशि का 3 % कमीशन 1 लाख 10 हजार रुपये रिश्वत लेते उपायुक्त के कार्यालय में रीवा लोकायुक्त पुलिस की टीम ने रंगे हाथ दबोच लिया है.

जबकि रीवा लोकायुक्त पुलिस टीम का नेतृत्व कर रहे डी एस पी पाठक ने बताया कि सिंगरौली नगर पालिक निगम में ठोस अवशिष्ट प्रबंधन का कार्य कर रही सोच एजुकेशन एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी का जुलाई 2017 में टेंडर समाप्त हो गया था। सोसायटी के दो बिल का भुगतान 37 लाख रुपये बना। जिसको जारी करने के बदले उपायुक्त व स्वास्थ्य अधिकारी सी पी पाण्डेय द्वारा 3% का कमीशन सोसायटी के सचिव परमिंदर सिंह से मांगा। पीड़ित परमिंदर सिंह इसकी शिकायत लोकायुक्त थाना रीवा में गत दिवस की, जिसके बाद आज उपयुक्त श्री पांडेय को ट्रैप कर 1लाख 10 हजार की रिश्वत लेते उनके ही कार्यालय में रंगे हाथ पकड़ा गया। ज्ञात हो कि लोकायुक्त एस पी संजीव सिन्हा के निर्देश पर डी एस पी श्री पाठक के नेतृत्व में आधा दर्जन लोकायुक्त पुलिस टीम सिंगरौली पहुंच रिश्वतखोर सिंगरौली उपायुक्त को रंगे हाथ दबोच लिया है.

हालांकि उपायुक्त के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई है। बता दे कि उपायुक्त सी पी पाण्डेय मूलतः सिंगरौली जिले थाना माडा क्षेत्र के कथूरा निवासी हैं। और इनकी उम्र 59 वर्ष है जो 2017 के दिसम्बर माह में सेवा निवृत्व भी होने वाले थे उससे पूर्व लालच व रिश्वतखोरी के अजगर ने उन्हें निगल लिया। बरहाल उपायुक्त के खिलाफ हुई इस कार्यवाही की चहुओर प्रशंसा हो रही ,कारण उपायुक्त महोदय अपने रीश्वतखोरी के लिए पूरे नगर निगम क्षेत्र में प्रसिद्ध रहे हैं.