दिवाली स्पेशल : इस दिशा में न रहे दीये की लौ पैसा होगा कम

0
27

नई दिल्ली । दिवाली में दिए जलाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। लेकिन क्या आप को पता है कि दीये की लौ किसी दिशा में होनी चाहिए केवल दिवाली ही नहीं अन्य दिनों में भी ऐसा माना जाता है कि दिए के जलने से आसपास की सभी नकरात्मक उर्जा नष्ट हो जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दिए और दीपकों को जलाने की भी एक विधि है। सही दिशा में दिए की लौ रहने पर घर में सकारात्मक उर्जा के साथ खुशनुमा माहौल बना रहता है।

यदि दिए अथवा दीपक की लौ सही दिशा में नहीं रहे तो घर में न तो खुशी बनी रहती है और ना ही सकारात्मक उर्जा का संचार होता है। पूरब और उत्तर दिशा दिए जलाने से आयु और धन में वृद्धि होती है। दक्षिण और पश्चिम में दिए जलना या उसकी लौ का होना बहुत अशुभ माना गया है।

पश्चिम दिशा में दिए की लौ का होना बहुत दुखदाई होता होता है। इस दिशा में दिए जलाने या उसकी लौ होने से व्यक्ति को कष्ट सहने के लिए मजबूर होना पड़ता है। इसके अलावे दक्षिण दिशा में दिए का होना बेहद घातक साबित होता है। साथ ही व्यक्ति या परिवार को बड़ी हानि उठानी पड़ सकती है। यह हानि जान-माल या किसी भी रूप में हो सकता है।