नवरात्रि के लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने बिजासन पहुंचे कलेक्टर

0
27

इंदौर: बिजासन माता मंदिर पहुंचे कलेक्टर, विधायक व नगर निगम आयुक्त कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े ने आज बिजासन मंदिर पहुंचकर आगामी नवरात्रि पर्व मेले के दौरान प्रशासनिक व्यवस्थाओं के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की तथा निर्देश दिए कि पर्व के दौरान बिजासन माता मंदिर में सभी आवश्यक प्रशासनिक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं ताकि मेले में आने वाले दर्शनार्थियों व माता के भक्तों को बिजासन माता के दर्शन सुविधाजनक तरीके से हो सके। इस अवसर पर विधायक श्री सुदर्शन गुप्ता, नगर निगम आयुक्त श्री मनीष सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े ने बताया कि मेले के दौरान जिला प्रशासन द्वारा सभी प्रशासनिक व्यवस्थाएं चाक-चौबंद की जायेगी तथा पिछले वर्षो के अनुरूप सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जायेगी। इस दौरान मंदिर परिसर में स्थित दुकानों को शिफ्ट कर व्यवस्थित किये जाने पर भी विचार किया गया। मौके पर उपस्थित प्रशासनिक अधिकारियों को दुकानदारों से चर्चा कर दुकानों को व्यवस्थित रूप से लगवाने के निर्देश दिए ताकि दर्शनार्थियों को बिजासन माता के दर्शन करने में किसी प्रकार की असुविधा ना हो।

इस दौरान मंदिर पहुंच मार्ग का चौडीकरण, मंदिर परिसर के सुव्यवस्थित विकास व अधोसंरचना निर्माण से संबंधित विभिन्न मुद्दो पर चर्चा हुई। विकास से संबंधित कार्यो को जन सहयोग से कराने पर भी विचार किया गया। इस दौरान बताया गया कि जन सहयोग से बिजासन मंदिर परिसर में पुजारियों के लिए 12 आवासीय फ्लैट बनाये गये हैं। कलेक्टर श्री वरवड़े ने जन सहयोग से आवासीय कॉम्पलेक्स के निर्माण की प्रशंसा की और प्रदेशभर के लिए अनुकरणीय बताया। उन्होने कहा कि मंदिर परिसर के विकास के लिए जन सहयोग से अन्य कार्य कराये जाने के भी प्रयास किये जायेगें।

इस अवसर पर विधायक श्री सुदर्शन गुप्ता ने नवरात्रि में आयोजित होने वाली चुनरी यात्रा के संबंध में अवगत कराया और बताया कि चुनरी यात्रा में बडी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। इस दौरान पुलिस व प्रशासनिक व्यवस्थाओं की आवश्यकता होती हैं। उन्होने यह भी बताया कि नवरात्रि के दौरान मेले में श्रद्धालु देर रात तक माता के दर्शन हेतु मंदिर आते हैं। निरीक्षण के दौरान एस.डी.एम मल्हारगंज श्री संदीप सोनी, एस.डी.एम विजय नगर श्री श्रृंगार श्रीवास्तव के अलावा क्षेत्रीय पार्षद, मंदिर के पुजारी व अन्य लोग मौजूद थे।