चीन को टक्कर देगी भारत और जापान की जुगलबंदी

India and Japan will fight against China

0
38

नई दिल्ली : जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का भारत आना और पीएम मोदी का उनके साथ अहमदाबाद में रोड शो करना कुछ नई तैयारोयो को दिखा रहा है , जापानी पीएम शिंजो आबे के भारत दौरे को बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट से जोड़ा जा रहा है.

हालांकि जानकर, इस रिश्ते को द्विपक्षीय संबध के दायरे तक सीमित नहीं मान रहे हैं. उनके मुताबिक, दोनों देश थर्ड वर्ल्ड माने जाने वाले देशों में इंफ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी बनाकर इस रिश्ते को और मजबूत बना रहे हैं. एेसे में जानकार इसे चीन की काट के रूप में देख रहे हैं, चीन के वन बेल्ट वन रोड (ओबीओआर) प्रॉजेक्ट के मद्देनजर भारत और जापान की रिश्तों को बेहतर करने की पहल और भी ज्यादा प्रासंगिक हो जाती है, दोनों ही देश चाहते हैं कि आबे और मोदी के मुलकात से एशिया-अफ्रीका ग्रोथ कॉरिडोर (एएजीसी) जैसे प्रॉजेक्ट को रफ्तार मिले. भारत और जापान की साझीदारी से जुड़े इस प्रॉजेक्ट में ईरान के चाहबहार बंदरगाह को विकसित करना भी शामिल है.

मोदी और आबे की बातचीत के बाद दोनों देशों की ओर से जॉइंट स्टेटमेंट जारी किया जाएगा. माना जा रहा है कि इसमें भारत के ऐक्ट ईस्ट पॉलिसी की झलक देखने को मिल सकती है. दोनों देश चाहबहार बंदरगाह के प्रॉजेक्ट को रफ्तार देने की दिशा में भी चर्चा कर सकते हैं. इस प्रॉजेक्ट के जरिए भारत के अफगानिस्तान और सेंट्रल एशिया तक आसानी से पहुंचने की दिशा में आने वाली अड़चनें दूर होगी.