पाकिस्तान को ट्रंप की आलोचना के बाद रूस और चीन से मिल सकता है समर्थन

Pakistan can get support from Russia and China after criticizing Trump america

0
52

नई दिल्ली : पाकिस्तान को अमेरिका से आतंकवादी गतिविधि रोकने के लिए दबाव बनाने के बाद राजनायिक स्टार पर रूस और चीन ने पाकिस्तान को समर्थन देने का यह आश्वासन दिया है, कि यदि पाकिस्तान आतंकवादियों के ठिकानों को नष्ट करने में नाकाम रहता है तो अमेरिका पाकिस्तान के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में आर्थिक प्रतिबंध लगाने का कोई भी कदम उठाता है तो वे अपने वीटो का इस्तेमाल करेंगे. मीडिया की रिपोर्ट में बुधवार को यह बात कही गई है.

जबकि अगस्त में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने के लिए इस्लामाबाद की आलोचना की थी इसके बाद ही पाकिस्तान और अमेरिका के बीच संबंध खराब हुए हैं. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून और उससे ही जुड़ी प्रकाशन संस्था डेली एक्सप्रेस ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि अमेरिका ने उन पाकिस्तानी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने के संकेत दिए हैं जिनके आतंकवादियों के साथ कथित तौर पर संबंध हैं.

प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने सोमवार को चेतावनी दी थी कि पाकिस्तानी अधिकारियों पर लक्षित प्रतिबंध से अमेरिका के आतंकवाद विरोधी प्रयासों में कोई सहायता नहीं मिलेगी. एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पाकिस्तान वीटो की शक्तियां रखने वाली दो ताकतों चीन और रूस के साथ संपर्क में है जिन्होंने पाकिस्तान पर अनावश्यक दबाव बनाने की अमेरिकी नीति का विरोध किया है.