जानें : चौथी पास सुखविंदर कैसे बनी राधे मां

0
123

नई-दिल्ली । डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के जेल जाने के बाद राधे मां एक बार फिर चर्चा में आ गई है. पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने पंजाब पुलिस को राधे मां के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है.

दरअसल, यह दो साल पुराना मामला है, जिसमें सुरेंदर मित्तल ने राधे मां पर यह आरोप लगाया था कि राधे मां ने उसे यौन संबंध बनाने के लिए उत्तेजित करने की कोशिश की.

1. राधे मां का जन्म पंजाब के गुरदासपुर जिले के दोरांगला गांव में 1965 में हुआ. यहां के लोग अपने देवी-देवताओं के समान ही राधे मां की भी पूजा करते हैं. उसका वास्तविक नाम है सुखविंदर कौर.

Image result for radhe maa

2. चौथी क्लास तक पढ़ने के बाद सुखविंदर की 17 साल में मोहन सिंह नाम के व्यक्ति से शादी कर दी गई. दोरांगला निवासी बताते हैं कि राधे मां बचपन से ही पढ़ाई से ज़्यादा भक्ति में लीन रहने लगीं थीं. वे रोजाना अपने घर के पास बने काली मंदिर में पूरा-पूरा दिन पूजा करती थी.

Related image

3.  सुखविंद जब 22 साल की हुई तब तक उसके छह बच्चे हो चुके थे. बताते हैं अपनी पति की आर्थिक सहायता के लिए वह कपड़ा सिलती थी, लेकिन इसी दौरान उसका पति कमाने के लिए कतर की राजधानी दोहा चला गया. इसके बाद 23 साल की होते-होते वह राधे मां महंत राम दीन दास के संपर्क में आई और उनकी शिष्या बन गई.

Image result for radhe maa

4. राम दीन दास ने ही उसे राधे मां का नाम दिया. राधे मां के अधिकांश फॉलोवर उसे मां दुर्गा का अवतार मानते हैं. 52 साल की हो चुकी राधे मां बमुश्किंल ही किसी ने लाल जोड़े और सोने के गहनों के बिना देखा होगा.

5. छोटी मां और ताली बाबा उसके सबसे करीबी हैं.  छोटी मां को उसके गुरु द्वारा दैवीय शक्तियां  हासिल हैं और ताली बाबा राधे मां के सभी इवेंट्स को संभालने का काम करता है.

6. राधे मां को एक्टिंंग का बहुत शौक है और वो अपने इस शौक को पूरा करने के लिए एक वेब सीरीज भी लाने की तैयारी कर रही थी.

7. रिपोर्ट के अनुसार कई विवादों में घिरने के बाद राधे मां अब अपनी साफ-सुथरी छवि बनाना चाहती है. अपनी शिकायत में मित्तल ने कहा है कि राधे मां के खिलाफ बोलने की वजह से उसे लगातार धमकियां मिल रही हैं.