हांगकांग के शिक्षण संस्थानों में चीन के खिलाफ लगाए पोस्टर

Posters planted against China in educational institutions of Hong Kong

0
25

नई दिल्ली : हांगकांग में लोकतंत्र के समर्थन में शिक्षण संस्थानों में लोकतंत्र के समर्थन में पोस्टर लगाए गए है, जो की शिक्षण संस्थानों और उनके परिसरों में लगाए गए है जिनमे चीन पर लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को दबाने का आरोप लगाया गया है. ऐसे में हांगकांग में फिर राजनीतिक माहौल गरम हो सकता है.

ब्रिटेन ने ‘एक देश, दो प्रणाली’ सिद्धांत के आधार पर वर्ष 1997 में हांगकांग को चीन को सौंपा था, सात विश्वविद्यालयों के नोटिस बोर्ड पर चीन से स्वतंत्रता हासिल करने की वकालत की गई है। लोकतंत्र समर्थकों ने कुछ भवनों पर बड़े-बड़े काले बैनर लगा दिए हैं। हांगकांग की नेता कैरी लाम ने इसे चीन की संप्रभुता का उल्लंघन करार देते हुए आलोचना की है। उन्होंने संबंधित संस्थानों से उचित कार्रवाई करने को कहा है.

यूनिवर्सिटी समेत कुछ अन्य कॉलेजों ने घटना को असंवैधानिक करार दिया है, लेकिन कुछ संस्थानों ने इन पोस्टर-बैनर को बने रहने दिया है, रविवार को 13 संस्थानों ने साझा बयान जारी कर लाम और विश्वविद्यालय प्रशासन पर अभिव्यक्ति की आजादी को सीमित करने के प्रयास का आरोप लगाया है। वर्ष 2014 में लोकतंत्र समर्थकों ने व्यापक जनआंदोलन किया था, जिसके बाद कई शीर्ष नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था.