एनडीए उपराष्ट्रपति पद के प्रत्याशी बने वेंकैया नायडू , जानिए उनके जीवन से जुडी खास बातें

0
209

नई दिल्ली: बीजेपी केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बना दिया गया है । यह निर्णय आज बीजेपी संसदीय बोर्ड बैठक में लिया गया।आइएजानते है वेंकैया नायडू केजीवन से जुडी ख़ास बातें

मुप्पवरपु वेंकैया नायडू आंध्र प्रदेश से एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। वे 2002 से 2004 तक भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं।

http://www.livemint.com/rf/Image-621x414/LiveMint/Period1/2014/07/10/Photos/Venkaiah%20Naidu1--621x414.JPGवर्तमान में वे भारत सरकार के अंतर्गत शहरी विकास, आवास तथा शहरी गरीबी उन्‍मूलन तथा संसदीय कार्य मंत्री हैं।इससे पहले, वे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रह चुके हैं।

http://sth.india.com/hindi/sites/default/files/styles/zm_700x400/public/2017/05/31/152335-venkaiah-naidu.jpg?itok=YQEdOhNS

प्रारंभिक जीवन
वेंकैया नायडू का जन्म 1 जुलाई 1949 को चावटपलेम, नेल्लोर जिला, आंध्र प्रदेश के एक कम्मा परिवार में हुआ था। उन्होंने वी.आर. हाई स्कूल, नेल्लोर से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की और वी.आर. कॉलेज से राजनीति तथा राजनयिक अध्ययन में स्नातक किया। वे स्नातक प्रतिष्ठा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुये। तत्पश्चात उन्होंने आन्ध्र विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम से कानून में स्नातक की डिग्री हासिल की। 1974 में वे आंध्र विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में निर्वाचित हुये। कुछ दिनों तक वे आंध्र प्रदेश के छात्र संगठन समिति के संयोजक भी रह चुके हैं।

http://images.jansatta.com/2015/10/Venkaiah-Naidu-620x400.jpg?w=680राजनीतिक जीवन
वेंकैया नायडू की पहचान हमेशा एक ‘आंदोलनकारी’ के रूप में रही है। वे 1972 में ‘जय आंध्र आंदोलन’ के दौरान पहली बार सुर्खियों में आए। उन्होंने इस दौरान नेल्लोर के आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लेते हुये विजयवाड़ा से आंदोलन का नेतृत्व किया। छात्र जीवन में उन्होने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की विचारधारा से प्रभावित होकर आपातकालीन संघर्ष में हिस्सा लिया।

http://www.haribhoomi.com/cms/gall_content/2017/7/4_2017071717202386_650x.jpgवे आपातकाल के विरोध में सड़कों पर उतर आए और उन्हें जेल भी जाना पड़ा। आपातकाल के बाद वे 1977 से 1980 तक जनता पार्टी के युवा शाखा के अध्यक्ष रहे। वर्ष 2002 से 2004 तक उन्होने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का उतरदायित्व निभाया। वे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रहे और वर्तमान में वे भारत सरकार के अंतर्गत शहरी विकास, आवास तथा शहरी गरीबी उन्‍मूलन तथा संसदीय कार्य मंत्री है।

http://mhone.in/wp-content/uploads/2017/05/NAIDU-CAPTAIN.jpg

प्रमुख उतरदायित्व

-1973-1974 : अध्यक्ष, छात्र संघ, आंध्र विश्वविद्यालय
-1974 : संयोजक, लोक नायक जय प्रकाश नारायण युवजन चतरा संघर्ष समिति, आंध्र प्रदेश
-1977-1980 : अध्यक्ष, जनता पार्टी की युवा शाखा, आंध्र प्रदेश
-1978-85 : सदस्य, विधान सभा, आंध्र प्रदेश (दो बार)
-1980-1985 : नेता, आंध्र प्रदेश भाजपा विधायक दल
-1985-1988 : महासचिव, आंध्र प्रदेश राज्य भाजपा
-1988-1993 : अध्यक्ष, आंध्र प्रदेश राज्य भाजपा
-1993 – सितंबर, 2000 : राष्ट्रीय महासचिव, भारतीय जनता पार्टी, सचिव, भाजपा संसदीय बोर्ड, सचिव, भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति, भाजपा के प्रवक्ता
-1998 के बाद : सदस्य, कर्नाटक से राज्यसभा (तीन बार)
-1 जुलाई 2002 से 30 सितंबर 2000 : भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री
-5 अक्टूबर 2004 से 1 जुलाई 2002 : राष्ट्रीय अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी
-अप्रैल 2005 के बाद : राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी
-26 मई 2014 : शहरी विकास और संसदीय मामलों के केंद्रीय मंत्री