जागरूकता के अभाव में “ओवर एक्टिव ब्लैडर” आज भी जांच के दायरे से बाहर

0
51

इंदौर। शहर के युरोलोजी विशेषज्ञों का कहना है कि मूत्र से संबंधित समस्याओं के इलाज की कई विधियां उपलब्ध होने के बावजूद इन समस्याओं से ग्रस्त मरीज अति सक्रिय मूत्राशय (ओवरएक्टिव ब्लैडर) की समस्या से जूझते रहते है।

एक अनुमान के अनुसार 40 साल से अधिक उम्र के छह में से एक लोग ओवर एक्टिव ब्लैडर(ओएबी) से जूझते रहते है। बिस्व में 19 से 26 जून 2017 को वर्ल्ड कंटीनेंस वीक के रूप में मनाया जाता है।

डॉ सुशील भाटिया,यूरोलॉजिस्ट,चोइथराम हॉस्पिटल इंदौर बताते है,”ओवरएक्टिव ब्लैडर एक ऐसी समस्या है जिसमें मुत्राषय के संग्रहन की कार्यप्रणाली बिगड़ जाती है जिसके कारण अचानक मूत्र त्याग का तीव्र इच्छा उत्पन्न होती है कुछ मामलों में यह इच्छा इतनी प्रबल होती है कि आपके बाथरूम पहुँचने से पहले ही पेशाब लीक हो सकती है।”

विशेषज्ञों का कहना है कि अगर आप 24 घंटे के दौरान आठ बार से अधिक मूत्रत्याग करते है तो यह इस बात का संकेत है कि आपको मूत्र संबंधी समस्या है।डॉ चंद्रशेखर थत्ते,यूरोलोजिस्ट,मेडिकल हॉस्पिटल इंदौर कहते है कि,”हालाकिं यह समस्या बहुत ही सामान्य है लेकिन शर्म के मारे लोग इसके बारे में अपने चिकित्सक से बात करने में हिचकते है इस समस्या के कारण आपकी जीवन की गुणवत्ता प्रभावित होती है।

इसके कारण आपके आत्मविश्वास में कमी आ सकती है और आप सामाजिक रूप से अलग-थलग रह सकते है अति सक्रिय मूत्राशय ऐसी स्वास्थ्य समस्या है जो मूत्राशय के कार्य-व्यवहार को प्रभावित करती है।”

इनकंटीनेंस(मूत्र त्याग संबंधी असंयम) और मूत्राशय से जुड़ी अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़े कलंक को kam करने के लिए जागरूकता बहुत ही जरुरी है अति सक्रिय मूत्राषय होने पर हमारा मूत्राशय अतिरिक्त कार्य करता है यह सामान्य से अधिक बार और असुविधाजनक समय पर सिकुड़ता है।

मूत्राषय अतिरिक्त कार्य करता है यह सामान्य से अधिक बार और असुविधाजनक समय पर सिकुड़ता है मुत्राषय की मांसपेशियां मस्तिक को गलत संदेश देती है जिसके कारण मूत्राषय के भरे होने का अहसास होता है जबकि वास्तव में मुत्राशय भरा हुआ नहीं होता है।

ओएबी के इलाज की दिशा में पहला चरण यह पता लगाने का है कि आप ओएबी से पीड़ित है इस बात का ध्यान रखें कि आप रोजाना कितनी बार और कितना अधिक मूत्र त्याग करते है।

इसके अलावा आपको हर बार मूत्राशय को खाली करने के लिए कितनी तीव्र इच्छा होती है अगर मूत्र त्याग करने की बारम्बारता एवं तीव्रता बढ़ जाए तो आपको चिकित्सक से सलाह करनी चाहिए।

जब ओएबी का इलाज हो जाता है तो ओबीए का बेहतर तरीके से प्रबंधन किया जा सकता है और इसके लक्षण काफी कम हो जाते है ओएबी के इलाज के अनेक तरीके है जिनमें जीवनशैली,आहार, दवा और सर्जरी भी शामिल है लेकिन जैसा कि विशेषज्ञ कहते है सबसे महत्वपूर्ण अपने चिकित्सक के साथ ओएबी के लक्षणों के बारें में परामर्श करना है।