• ब्रेकिंग न्यूज़
    •   भारतीय IS आतंकी की अमेरिकी हमले में मौत
    •   तमिलनाडु: राज्य में बारिश की कामना के लिए रामेश्वरम में महायज्ञ का आयोजन किया गया।
    •   जम्मू&कश्मीर: बीजेपी प्रमुख अमित शाह ने जम्मू में नानाजी देशमुख लाइब्रेरी और ई-लाइब्रेरी का किया उद्घाटन।
    •   हिमाचल प्रदेश: लाहौल और स्पीति जिले के स्टिंगरी इलाके में ताजा बर्फबारी, मनाली-लेह सड़क पर वाहन चालन बाधित।
    •   मेरठ में रिटायर्ड कर्नल के घर से बरामद वन्य जीवों के अंग।
    •   ज्यादा जानने के लिए खूब घूमें, लेकिन एक जगह पर जाने के बाद वहां 3-4 दिन तक रुकें फिर दूसरी जगह पर जाएं: पीएम
    •   गुजरात से जगत भाई ने अपनी किताब भेजी है जिसमें उन्होंने गौरेया की कम होती आबादी की चिंता की है: PM मोदी
    •   मार्च-अप्रैल में मई-जून जैसी गर्मी हो रही है। ज्यादातर लोगों ने गर्मी से जुड़े हुए सुझाव दिए हैं: PM मोदी
    •   सलाह देना, सुझाव देना हमारे स्वभाव में है। समाज के लिए कुछ कर गुजरने वाले लोगों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं:
    •   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रेडियो प्रोग्राम 'मन की बात' के जरिए कर रहे हैं देश को संबोधित।
    •   दिल्ली: सुल्तानपुरी इलाके में आग लगने से एक नाबालिग समेत दो महिलाओं की मौत हो गई।
    •   गुजरात लायंस के कप्तान सुरेश रैना ने IPL मैच में मुंबई इंडियंस के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला
    •   उत्तराखंड के नागथात में एक कार दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में पांच लोगों की मौत।
    •   विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स को पुणे सुपरजायंट ने हराया। इस हार के साथ ही आईपीएल से बाहर हुई रॉयल चैलेंजर
    •   वाराणसी के पेट्रोल पंपों पर विधिक माप विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने सक्रियता दिखाते हुए छापेमारी की।
    •   मुजफ्फरनगर: शादी समारोह में हर्ष फायरिंग। गोली लगने से 12 वर्षीय किशोर की मौत।
    •   2018 तक करीब 15 लाख वीवीपीएटी (वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें तैयार हो जाएंगी: मुख्य चुनाव आयुक्त
    •   लखनऊ: पेट्रोल पंप से तेल चोरी के मास्टरमाइंड राजेन्द्र को आठ दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया।
    •   गोरखपुर प्रेस क्लब में सीएम योगी आदित्यनाथ ने मीडिया की तारीफ की।
    •   आईआईटी के बाद दिल्ली युनिवर्सिटी ने छात्राओं से 'ठीक कपड़े' पहनने को कहा

ब्रेकिंग न्यूज़

Entertainment

सबका मत

  • क्या आपको फिल्म बाहुबली-2 फिल्म-बाहुबली से भी ज्यादा जबर्दस्त लगी?

    Yes NO

राशिफल

शेयर बाजार

विज्ञापन

संपादकीय

  • ग्राउंड रिपोर्ट
    अब धार्मिक यात्रा में बदल चुकी है नर्मदा सेवा यात्रा
     
    शहपुरा यानिकी जबलपुर से तकरीबन पचास किलोमीटर दूर डिंडौरी जिले का छोटा सा कस्बा। सुबह से यहां चहल पहल पसरी है। चौराहों और सडकों पर खंबे गाडकर छोटे छोटे होर्डिग्स लगे हैं जिनसे पता चल रहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा का जन संवाद आज यहां इस कस्बे में होना है जिनमें एमपी के सीएम शिवराज और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आने वाले है। होर्डिग्स पर लगे ढेरों स्थानीय नेताओं के फोटो के बीच बीच में शिवराज और आदित्यनाथ के फोटो लगे हैं। कौतुहलवश जब हमने स्थानीय लोगों से पूछा कि यहां नर्मदा का तट कहां है तो जबाव मिला नर्मदा यहां से २५ किलोमीटर दूर मालपुर में बहती हैं। यहां से तो यात्रा गुजर रही है इसलिये सभा हो रही है और भारतीय राजनीति की नयी सनसनी योगी तो पहले, अपने लोकसभा के मित्र फग्गन सिंह कुलस्ते की बेटी प्रीति की शादी मेँ शामिल होने पास के गांव जेलरा बावलिया जायेंगे फिर यहां जनसंवाद में शामिल होने आयेंगे। यानिकी एक पंथ दो काज।

    योगी को सीएम बने एक महीने होने को है और उनकी सरकार की हर हरकत पर नजर रखने को मजबूर मीडिया बडी संख्या में भोपाल से शहपुरा आया हुआ है। शहपुरा के शाह स्टेडियम में सभा का मंच सजा है।स्टेडियम के गेट से मंच तक सीएम शिवराज के ढेरों फ्लेक्स लगे हैं जिनमें कहीं वो ध्वज उठाकर चल रहे हैं तो किसी में विनय भाव से हाथ जोडकर खडे हैं कहीं बेटियों के सिर पर हाथ फेर रहे हैं। कुछ पोस्टरों में सीएम की धर्मपत्नी साधना सिंह सिर पर कलश लेकर चलती दिखती हैं। पिछले पांच महीने से नर्मदा के किनारों पर चल रही इस यात्रा के दो स्थायी फोटो हो गये हैं एक शिवराज का ध्वज लेकर चलते हुये फोटो तो दूसरा प्रदेश की प्रथम महिला यानिकी सीएम की पत्नी का सिर पर नर्मदा कलश लेकर चलते हुये फोटो। शिवराज मंच से मगन होकर हाथ झटक कर कहते भी हैं "मैय्या की भक्ति में डूब गये हैं हम दोनों"। नर्मदा सेवा यात्रा अब पूरी तरह हिन्दू भक्ति यात्रा में बदल गयी है। मंच पर ढेरों साधू सन्यासियों का डेरा होता है तो नीचे भी गांवों से बुलायी भीड में बाबा, बैरागियों और नर्मदा परिक्रमा करने वाले लोगों की भीड कुर्सियों पर डेरा जमाये रहती है। सीएम शिवराज के आने से पहले जिन साधु सन्यासियों के भाषण होते हैं वो पूरी तरह धार्मिक प्रवचन होते हैं जिनमें पुराणों का हवाला देकर नर्मदा की महिमा का बखान होता है, आज नर्मदा की दुर्गति कैसे हो रही है कौन इसका जिम्मेदार है इसकी चर्चा नहीं होती।गौरवशाली अतीत की बातें कर जनता को मुग्ध रखने की कोशिश जमाने से की जा रही है तो वो इन नर्मदा जन संवाद में भी जारी है। शहपुरा की सभा में हैरानी इसी बात पर हुयी कि यहां की सभा का प्रमुख आकर्षण योगी का फोटो मंच के आसपास कहीं नहीं था। पूरा शो शिवराज मय था और हो भी क्यों ना ११० दिन पूरा कर चुकी इस यात्रा में हर दूसरे तीसरे दिन वो सारे काम छोडकर भोपाल से शामिल होने पत्नी के साथ आ जाते हैं। जनसंवाद से पहले हमने नर्मदा तट को देखने की इच्छा की तो थोडी देर बाद हम मालपुर में खडे थे। ये देखकर हैरानी हो रही थी कि नर्मदा की धार बुरी तरह टूटी हुयी थी। रपटा पुल पर एक तरफ पानी रोका हुआ था तो दूसरी तरफ मामुली सा पानी था। पत्थरों के बीच बह रही नर्मदा की धार को इस पार से उस पार तक जाने में आपके एेडी ही गीली होगी घुटने तक पानी की कल्पना भी नहीं कीजिये। और यहीं बन रहा था एक बडा पुल। शिवराज अपनी सभाओं में कहते भी हैं कि इस पुल के शिलान्यास के दौरान यहां की नर्मदा की धार देखकर ही उनको नींद नहीं आयी और लोगों की नींद खोलने के लिये ही वो इस छह महीने की नर्मदा सेवा यात्रा पर निकले हैं जिसे विपक्षी सरकारी पैसों की वोट यात्रा कहते हैं। यहीं रपटे पर हमें एक छोटी सी टैम्पो ट्रेक्स में भरे हुये पच्चीस लोग मिले जो पास के गांव से जन संवाद सभा में शामिल होने जा रहे थे। लोगों के फंसे बैठे बुढार सिंह धुर्वे बताते हैं सचिन तेंदुकर को देखने जा रहे हैं तो दूसरे केवट का कहना है नहीं गोविंदा आ रहा है शहपुरा में सरपंच ने कहा है और गाडी भेजी है इसलिये जा रहे हैं। सीएम की सभाओं में अलग अलग तरीके से भीड जुटायी जाती है ये हम जानते हैं मगर इन अजब गजब बहानों से जुटायी भीड को योगी आदित्यनाथ जनता का अपार उत्साह और यात्रा में सहभागिता मानें तो उनको कौन रोक सकता है। खैर नर्मदा सेवा यात्रा अब अगले महीने खत्म होने को है फिर एक बडा जमावडा होगा अमरकंटक में यूं ही भीड जुटायी जायेगी पीएम मोदी के सामने जिसे मोदी भी जनता का उत्साह समझेंगे और शिवराज को इस नेक काम के लिये बधाइयां देंगे। मंच से साधु संत शिवराज को भगीरथ तो कहने ही लगे हैं मगर असल काम तो यात्रा के बाद शुरू होगा जब वृक्षारोपण और वो ढेर सारे काम शुरू होने हैं जो शिवराज मंच से गिनाते नहीं थकते हैं, यदि ये काम नहीं हुये तो भगीरथ की छवि में अपने आपको ढाल चुके शिवराज सिंह को नर्मदा किनारे के लोग कभी माफ नहीं करेंगे।
    ब्रजेश राजपूत, एबीपी न्यूज, भोपाल,  

                 प्रतिक्रिया के लिए
      editor@ghamasan.com पर मेल करे          


Tenders


सोशल मीडिया से